ताज़ा खबर
CM शिवराज एवं बीडी शर्मा पन्ना में जनकल्याण एवं सुराज सभा को करेंगे संबोधित युवती एसिड मामला- आंखें सुरक्षित-- प्रशासन,, जिले में कॉग्रेस का प्रदर्शन और ज्ञापन, एसपी कलेक्टर की प्रेस कॉन्फ्रेंस और धन्यवाद किशोरी पर एसिड अटैक,, मचा हड़कंप,, एसपी,कलेक्टर मिलने पहुंचे, कांग्रेस अध्यक्ष ने की कार्यवाही की मांग बरसते पानी में कांग्रेस का प्रदर्शन,,, स्वास्थ्य आव्यवस्थाओं के खिलाफ दिया ज्ञापन

18 कैरेट का बड़ा हीरा , पटीबजरिया में घनश्याम सोनी को मिला, खुशी का माहौल, पन्ना का राजस्व वन भूमि विवाद खत्म हो तो हीरा उद्योग पुनर्जीवित हो सकता है,

18 कैरेट का बड़ा हीरा , पटीबजरिया में घनश्याम सोनी को मिला, खुशी का माहौल, पन्ना का राजस्व वन भूमि विवाद खत्म हो तो हीरा उद्योग पुनर्जीवित हो सकता है,

जदूर की किस्मत चमकी मिला एक करोड का हीरा
18 कैरेट का बड़ा हीरा
कार्यालय में जमा किया गया

पन्ना जिले की हीरा धरित बसुंधरा से लगातार गरीब मजदूरो की किस्मत चमक रही है फिर से 1 हीरा खोदने वाले मजदूर को 18.59 कैरेट का हीरा मिला है जिससे खुशी का माहौल व्याप्त है जानकारी के अनुसार जनकपुर निवासी राधे श्याम सोनी को कल्याणपुर ग्राम की पटी बजरिया खदान मे सुबह 18.59 कैरेट का हीरा खदान खोदते हुए मिला है


जिसे उसके द्वारा हीरा कार्यालय मे जमा किया गया राधे श्याम सोनी ने बताया की वह अपने 8 साथियो के साथ हीरा की खदान लगाये हुए था उसे यह जेम्स क्वाल्टी का हीरा प्राप्त हुआ जिसकी अनुमानित कीमत 1 करोड के लगभग है

अभी तीन माह पूर्व 1 मजदूर को 42 कैरिट से अधिक का हीरा मिला था जो नीलामी मे 2.50 करोड में बिक्री हुआ है इस प्रकार लगातार जिले की उत्थली हीरा खदानो से बडे हीरे मिल रहे है खनिज अधिकारी ने कहा कि सौभाग्य की बात है और यह बड़ा हीरा मिला है इसमें लोगों में उत्साह है और पन्ना में हीरा व्यापार बढ़ेगा

जिससे जिले के लोगो में उत्साह का महौल है तथा मध्य प्रदेश शासन को भी राजस्व की प्राप्ती हो रही है।

पट्टी बजरिया में जो बड़ा हीरा मिला था उसकी चर्चा दूर तक है और इस हीरा का के कार्यालय में जमा होने से लोगों में खुशी है सरकार अगर हीरा उद्योग पर ध्यान दें तो पहले की तरह हीरा उद्योग पुनर्जीवित हो सकता है क्योंकि अधिकांश से हीरा खदानें राजस्व एवं भूमि विवाद के कारण बंद हो गई है लोग खदान खोलना चाहते हैं पर जगह नहीं मिलती पत्थर की खदानें बंद होने से बेरोजगारी का आलम है यदि जायज रूप से राजस्व और भूमि का विवाद खत्म कर दिया जाए तो यह बड़ी मात्रा में पत्थर और हीरा खदानें शुरू होंगी और यहां का खनिज पन्ना का दूर तक नाम रोशन करेगा

ज्ञात हो कि पन्ना में भारी मात्रा में पहले हीरे निकलते थे कुछ वर्षों से राजस्व और वन भूमि विवाद के कारण अच्छे ही रे उड़ने वाले क्षेत्र और घाट में अधिकृत रूप से पट्टा देना बंद कर दिया गया है जबकि यह क्षेत्र राजस्व क्षेत्र है जब राजस्व क्षेत्रों में ही हीरे खोजने की अनुमति नहीं मिल रही तो लोग अवैध रूप से जंगल और हीरा धारी क्षेत्र में हीरा खोते हैं दुनिया का खूबसूरत रत्न सिर्फ अन्ना में मिलता है यदि इसे ही उत्खनन के लिए बंद कर दिया गया तो पन्ना से हीरे का नाम खत्म हो जाएगा लेकिन पिछले कुछ दिनों से जो बड़े-बड़े ही रे मिले हैं इस उद्योग को संरक्षित करने की आवश्यकता है तभी बन्ना का नाम बचेगा सरकार को प्राथमिकता के आधार पर राजस्व एवं भूमि विवाद खत्म करना चाहिए

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी