ताज़ा खबर
डॉ मीना नामदेव के घर डकैती का खुलासा , तीन आरोपी गिरफ्तार, डकैतों से 24 लाख का सामान और नकदी बरामद SJS पब्लिक स्कूल में अभिभावकों के लिए निशुल्क प्रेजेंटेशन,,,1मई2022 को, दुखी पिता की आस टूटी,,, नहीं रहा शिव,,,, बनारस में यूपी पुलिस की अभिरक्षा से गायब पन्ना के शिव की डीएनए से मौत की पुष्टि,,,, हाईकोर्ट के दखल के बाद वह मामले का खुलासा बहुचर्चित नहरपट्टी जमीन मामले में ग्रीनट्रिब्यूनल (NGT) का फैसला, याचिका खारिज, 25हजार का जुर्माना, जारी रहेगा पथ बिहार का निर्माण

खजुराहो मैं बनेगी बुंदेलखंड की आध्यात्मिक और सांस्कृतिक लाइब्रेरी,,, पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष शैलेंद्र बरुआ ने की घोषणा

बनेगी बुंदेलखंड की आध्यात्मिक और सांस्कृतिक लाइब्रेरी

पाठ्य शीघ्रपुस्तक निगम के अध्यक्ष शैलेंद्र बरुआ ने की घोषणा•

बुंदेलखंड का इतिहास , संस्कृति , अध्यात्म और विकास से जुडी पुस्तको को सजोने का होगा काम

(शिवकुमार त्रिपाठी) बुंदेलखंड के अल्प प्रवास पर आये कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त पाठ पुस्तक निगम के अध्यक्ष शैलेंद्र बरुआ से चर्चा मैं श्री मतंगेश्वर उत्सव समिति के संस्थापक पर्यटन विशेषज्ञ एवं बीजेपी के वरिष्ठ नेता पंडित सुधीर शर्मा एवं उनके प्रतिनिधिमंडल ने अंतरराष्ट्रीय स्तर की आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक लाइब्रेरी की मांग की जिसे शैलेंद्र बरुआ ने स्वीकार कर घोषणा की और कहा कि नगर परिषद के द्वारा जमीन उपलब्ध करा कर प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाकर भेजें जिस पर मैं अपनी तुरंत स्वीकृति प्रदान करूंगा यह बुंदेलखंड के लिए महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय स्तर की लाइब्रेरी उपलब्ध होगी पुस्तकालय में जो भी खर्चा होगा उसे मध्य प्रदेश पाठ्य पुस्तक निगम से प्रदान करूंगा जो भी खर्चा आएगा उसे स्वीकृत करूंगा

जिसमें गीता रामायण ग्रंथों से लेकर महान क्रांतिकारी और देशभक्तों का भी इतिहास मिलेगा स्वामी विवेकानंद हो या वीर छत्रसाल महाराज श्री भगवान रजनीश( ओशो ) गीता प्रेस गोरखपुर गायत्री परिवार श्री श्री रविशंकर ईशा फाउंडेशन योगानंद परमहंस मां ऋतंभरा जी का वात्सल्य इतिहास भी मिलेगा इस मौके पर पूर्व जिला अध्यक्ष घासीराम पटेल सतानंद गौतम मणिकांत चौरसिया, परशुराम तिवारी चाली राजा अप्पू चौराहा रामेश्वर गुप्ता एव गाइड एसोसिएशन व्यापार संघ एवं होटल एसोसिएशन एवं पर्यटक सहायक एसोसिएशन के प्रतिनिधि उपस्थित रहे

महिला डॉक्टर को आवास पर बंधक बनाकर लूट करने वाले 02 आरोपी गिरफ्तार, 01 विधिविरूद्ध बालक पुलिस अभिरक्षा में

आरोपियों के कब्जे से कुल 24 लाख 37 हजार रूपये का मशरुका जप्त

 महिला डॉक्टर से लूट करने के अलावा पन्ना जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में हुई 20 चोरियों/नकबजनी की वारदातों सहित कुल 21 अपराधों में शामिल है आरोपीगण

जहां की डकैती वही की तस्दीक करवाते टी आई अरुण सोनी

(शिवकुमार त्रिपाठी) पन्ना की प्रतिष्ठित डॉक्टर मीना नामदेव कि घर डकैती एवं नगर में दहशत पैदा कर देने वाली इस घटना का पुलिस ने 1 सप्ताह में ही तत्परता से खुलासा किया है लूट और डकैती का 24लाख रुपए का सामान और नकदी बरामद कर पुलिस की सक्रियता से दो दर्जन चोरी लूट डकैती और नकद जनों की घटनाओं का खुलासा हुआ है साथ ही मीना नामदेव के घर 9लाख नगदी की डकैती की भी जब की हुई है, इस खुलासे के बाद उन लोगों ने राहत की सांस ली है एसपी धर्मराज मीणा ने पूरी घटना का सिलसिलेवार जानकारी दी और कई घटनाएं उजागर की है

घटना की सिलसिलेवार जानकारी देते एसपी धर्मराज मीणा

आरोपियों के कब्जे से महिला डॉक्टर के आवास से लूटी हुई नगद रकम 09 लाख 10 हजार रूपये, एक सोने की चेन कीमती करीब 55 हजार रूपये, 01 मोबाइल कीमती करीब 12 हजार रूपये, लूटी हुई राशि से खरीदी गई 01 पलशर मोटर साइकिल कीमती करीब 01 लाख 25 हजार रूपये, 02 मोबाइल कीमती करीब 52 हजार रूपये एवं घटना में प्रयुक्त 01 मोटर साइकिल कीमती करीब 50 हजार रूपये , 01 आयरन कटर कीमती करीब 8 हजार रूपये, 01 इस्तेमाली मोबाइल कीमती करीब 12 हजार रूपये कुल मशरूका कीमती करीब 12 लाख 24 हजार रूपये का जप्त*

बड़ी संख्या में पुलिस ने बरामद की नगदी

*• आरोपियों के कब्जे से पन्ना जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में की गई चोरियों / नकबजनी में नगद 45000 रूपये, 145 ग्राम सोना कीमती करीब 08 लाख 70 हजार रूपये, 04 किलो 100 ग्राम चाँदी कीमती करीब 2 लाख 87 हजार रूपये एवं 01 मोबाइल कीमती करीब 11 हजार रूपये कुल मशरूका कीमती करीब 12 लाख 13 हजार रूपये का जप्त*

*घटना का संक्षिप्त विवरण –* दिनांक 06/05/2022 को महिला डॉक्टर द्वारा पुलिस थाना कोतवाली पन्ना में रिपोर्ट की गई कि मैं अपने मकान में सो रही थी रात्रि करीब 02 बजे नींद खुली तो मेरे कमरे में 03 व्यक्ति खड़े दिखे जो सफेद तौलिया से अपना चेहरा ढँके थे जिसकी वजह से उनका चेहरा नहीं दिख रहा था, उन लोगो को देखकर जैसे ही मैनें चिल्लाने की कोशिश की तो उनमें से एक व्यक्ति मेरा मुँह दबाते हुये बोला कि अगर चिल्लाई तो जान से मार डालूँगा । इसके बाद उन लोगो ने मेरे पास रखी चाभी से एक अलमारी खोली एवं मकान के हॉल में रखी दूसरी अलमारी का लॉक तोड़ कर दोनो अलमारियों में रखा नगदी करीब 05 लाख रूपये एवं मेरे गले से सोने की चेन और मेरा इस्तेमाली मोबाइल लूट कर ले गये । फरियादिया की रिपोर्ट पर थाना कोतवाली पन्ना में अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध घर में घुसकर लूट करने का अपराध क्रमांक 320/22 भादवि कायम किया जाकर विवेचना में लिया गया ।

बधाई की पात्र पुलिस की टीम

*पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही –* थाना प्रभारी कोतवाली पन्ना निरीक्षक अरूण कुमार सोनी द्वारा उक्त घटना की जानकारी पुलिस अधीक्षक पन्ना श्री धर्मराज मीना को दी गई । पुलिस अधीक्षक पन्ना द्वारा घटना को गंभीरता से लिया गया । लूट का खुलासा करने एवं आरोपियों को गिरफ्तार करने हेतु पुलिस अधीक्षक पन्ना श्री धर्मराज मीना के निर्देशन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पन्ना श्रीमती आरती सिंह एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस पन्ना श्री बी.एस. बारीबा के मार्गदर्शन में 03 पुलिस टीमों का गठन किया गया । पुलिस अधीक्षक पन्ना द्वारा लूट का खुलासा किये जाने एवं आरोपियों को गिरफ्तार करने हेतु पुलिस सायबर सेल टीम पन्ना को उक्त पुलिस टीमों के साथ कार्यवाही में शामिल किया गया । पुलिस टीमों द्वारा पुलिस अधीक्षक पन्ना द्वारा दिये गये निर्देशों का पालन करते हुये पूर्व में इस तरीके की वारदातो को अंजाम देने वाले संदिग्ध व्यक्तियों को चिन्हित किया जाकर उनके बारे में जानकारी एकत्रित करते हुये चिन्हित व्यक्तियों की गतिविधियों पर लगातार नजर रखते हुये घटना स्थल के आस-पास के सी.सी.टी.व्ही. कैमरों के फुटेज को खंगाला गया जिसमें आरोपियों के हुलिया, पहने गये कपड़ो एवं उपयोग किये गये मोटर साइकिल वाहन के आधार पर संभावित जगहों पर संदिग्धो की तलाश की गई । पुलिस द्वारा आरोपियों की पतारसी एवं गिरफ्तारी हेतु अपने मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया गया । लगातार पुलिस टीम द्वारा आरोपियों की पतारसी हेतु प्रयास किये जा रहे थे । आज दिनांक 11/05/2022 को पुलिस सायबर सेल टीम और मुखबिर सूचना के आधार पर मामले के संदिग्ध 03 व्यक्तियों को ओरछा तिराहा झाँसी रोड ओरछा से पुलिस अभिरक्षा में लिया जाकर पुलिस टीम द्वारा पूँछताछ की गई जिन्होंने अपने-अपने नाम पता बताये गये एवं पुलिस टीम द्वारा कड़ाई से पूँछताछ किये जाने पर उक्त व्यक्तियों द्वारा अन्य जिले से चोरी की गई मोटर साइकिल का इस्तेमाल करके महिला डॉक्टर के आवास में लूट की घटना कारित किया जाना स्वीकार करते हुये अपने 01 अन्य साथी के साथ मिलकर पन्ना जिले के विभिन्न थानों में दर्ज अपराधो में से थाना कोतवाली पन्ना के अप.क्र. 879/21, 886/21,964/21, 126/22, 144/22 थाना देवेन्द्रनगर के अप.क्र. 236/21,456/21, थाना रैपुरा के अप.क्र. 02/22, 05/22, 10/22, 22/22, थाना पवई के अप.क्र. 412/20, 314/21 एवं थाना अमानगंज के अप.क्र. 204/22, 207/22, 208/22, 242/22, 246/22, 248/22, 251/22 में फरियादियों के घर / दुकानो पर चोरी करने की वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया गया । पुलिस टीम द्वारा आरोपियो के कब्जे से लूटा गया मशरूका एवं चोरी / नकबजनी का कुल मशरूका कीमती करीब 24 लाख 37 हजार रूपये का जप्त किया जाकर मामले में 02 आरोपियो को गिरफ्तार किया गया है एवं 01 विधि विरुद्ध बालक को पुलिस अभिरक्षा में लिया गया है । चोरी / नकबजनी के प्रकरणों में 01 आरोपी की गिरफ्तारी होना शेष है । गिरफ्तार सुदा आरोपी पूर्व में भी कई अपराधों में शामिल रहें है एवं आरोपियों से पूँछताछ पर अन्य मामलों के खुलासा एवं मशरूका बरामदगी की प्रबल संभावनायें हैं ।

*जप्त सामग्री –* आरोपियों के कब्जे से महिला डॉक्टर के आवास से लूटी हुई नगद रकम 09 लाख 10 हजार रूपये, एक सोने की चेन कीमती करीब 55 हजार रूपये, 01 मोबाइल कीमती करीब 12 हजार रूपये, लूटी हुई राशि से खरीदी गई 01 पलशर मोटर साइकिल कीमती करीब 01 लाख 25 हजार रूपये, 02 मोबाइल कीमती करीब 52 हजार रूपये एवं घटना में प्रयुक्त 01 मोटर साइकिल कीमती करीब 50 हजार रूपये , 01 आयरन कटर कीमती करीब 8 हजार रूपये, 01 इस्तेमाली मोबाइल कीमती करीब 12 हजार रूपये कुल मशरूका कीमती करीब 12 लाख 24 हजार रूपये एवं पन्ना जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्रों से चोरी/ नकबजनी में आरोपियों के कब्जे से नगद 45000 रूपये, 145 ग्राम सोना कीमती करीब 08 लाख 70 हजार रूपये, 04 किलो 100 ग्राम चाँदी कीमती करीब 2 लाख 87 हजार रूपये एवं 01 मोबाइल कीमती करीब 11 हजार रूपये कुल मशरूका कीमती करीब 12 लाख 13 हजार रूपये कुल मशरूका 24 लाख 37 हजार रूपये का जप्त ।

*गिरफ्तार आरोपी –* 02 आरोपी गिरफ्तार, 01 विधिविरूद्ध बालक पुलिस अभिरक्षा में, चोरी / नकबजनी के प्रकरणों में 01 आरोपी फरार ।

*सराहनीय योगदान –* उक्त संपूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी कोतवाली पन्ना निरीक्षक अरूण कुमार सोनी, थाना प्रभारी अमानगंज निरीक्षक अरविन्द कुजूर, थाना प्रभारी बृजपुर उनि बखत सिंह, थाना प्रभारी रैपुरा उनि अभिषेक पाण्डेय, चौकी प्रभारी हनुमतपुर उनि भानुप्रताप सिंह, उनि आर.एल. नापित, उनि एम.एल. दाहिया, उनि रचना पटेल, उनि राहुल यादव, सउनि रामकृष्ण पाण्डेय, सउनि अशोक गौतम, सउनि राकेश सिंह बघेल, सउनि विक्रम सिंह, पुलिस सायबर सेल टीम से प्र.आर. नीरज रैकवार, राहुल सिंह बघेल, आर. आशीष अवस्थी, धर्मेन्द्र सिंह राजावत, राहुल पाण्डेय, पुलिस फिंगर प्रिन्ट शाखा से उनि रजनी गुप्ता, उनि विभा खरे, सउनि एंथोनी पसाना, पुलिस सी.सी.टी.व्ही. कन्ट्रोल रूम से उनि प्रमोद जाटव, आर. कुलदीप शुक्ला, निरंजन त्रिफला, विपिन पाण्डेय एवं पुलिस टीम से प्र.आर. लक्ष्मी नारायन यादव, अरूण कुमार, रामभिखारी, शिवस्वरूप तिवारी, उर्मिला अहिरवार, आर. वीरेन्द्र कुमार, सर्वेन्द्र कुमार, विनय, महेन्द्र चढ़ार, लखन पटेल, दीप प्रकाश, राकेश पटेल, प्रदीप पाण्डेय, राजीव मिश्रा,रविकरण सिंह, नीलेश , धरम सिंह का सराहनीय योगदान रहा ।
उक्त मामले में पुलिस में अधीक्षक पन्ना द्वारा पुलिस टीम को 10 हजार रूपये के पुरस्कार से पुरुस्कृत करने की घोषणा की गई है ।

SJS पब्लिक स्कूल में अभिभावकों के लिए प्रेजेंटेशन,,, आधुनिक तकनीक, कला, विज्ञान ज्ञान और तकनीकी पाठ्यक्रम अनुसार होगी पढ़ाई

1 मई 2022 को पुरुषोत्तमपुर स्थित स्कूल में पेरेंट्स ओरियंटेशन कार्यक्रम

अभिभावकों के लिए निशुल्क प्रेजेंटेशन

विद्यार्थियों की रुचि और अभिभावकों की मंशा अनुसार स्कूल में की जाएंगी व्यवस्थाएं

(शिवकुमार त्रिपाठी) पन्ना शहर के इंग्लिश मीडियम स्कूल में आधुनिक तकनीकी और विश्व स्तरीय सुविधाओं युक्त एसजेएस पब्लिक स्कूल का शुभारंभ गत दिवस पुरुषोत्तमपुर स्थित शिवहरे कॉलोनी में किया गया था अभिभावक स्कूल के प्रति आकर्षित है अभिभावकों को स्कूल की समस्त शिक्षा प्रणाली, तकनीकी व्यवस्था और आधुनिक सोच की से अवगत कराने हेतु पेरेंट्स ओरियंटेशन रखा गया है एसजेएस पब्लिक स्कूल के संचालक नरेंद्र कुमार शुक्ला ने बताया कि लीड ग्रुप जो देश की आधुनिक तकनीकी से बड़े-बड़े इंग्लिश माध्यम स्कूलों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं उसी लीड ग्रुप के सदस्य स्कूल में 1 मई को सुबह 10:00 बजे से अभिभावकों को प्रेजेंटेशन देंगे और स्कूल में की गई व्यवस्था तथा स्कूल के

पाठ्यक्रम की जानकारी देंगे नरेंद्र शुक्ला ने बताया कि शहर का सर्वोत्तम स्कूल एसजेएस पब्लिक स्कूल बने इसके सतत प्रयास किए जा रहे हैं इसीलिए अभिभावकों का फीडबैक लेने और अपनी व्यवस्थाओं और तकनीक से अवगत कराने के लिए निशुल्क कार्यक्रम रखा गया है नरेंद्र शुक्ला ने पन्ना शहर के आम लोगों एवं अभिभावकों से इस प्रजेंटटेशन में शामिल होने की अपील की है और कहा यदि कोई सुझाव देना चाहे तो उनके सुझावों को प्रबंधन अवश्य मानेगा

दुखी पिता की आस टूटी, नहीं रहा शिव

 पन्ना के शिव की बनारस में मौत, पुलिस की कार्यप्रणाली संदेह के घेरे में

प्रियंका गांधी वाड्रा के ट्वीट के बाद मामला सुर्खियों में आया

दुखी परिवार की गुहार के बाद हाईकोर्ट के हस्तक्षेप से हुआ खुलासा

गरीब पीड़ित परिवार ने सीबीआई जांच की मांग की

यूपी की लंका पुलिस की कस्टडी से लापता पन्ना का शिव अब नही लौटेगा अपने घर,

-डीएनए टेस्ट में हुआ मौत का खुलासा

दो वर्ष तक पिता ने यूपी की गलियों में की अपने पुत्र की तलाश,हाईकोर्ट की शरण मे भी पहुँचे,

प्रियंका गांधी ने ट्वीट से मामला गरमाया

(शिवकुमार त्रिपाठी पन्ना) -यूपी बनारस के बीएचयू में पढ़ने वाला पन्ना के बड़गड़ी गांव निवासी शिव दो साल से लापता है दो वर्ष से तलाश करते करते एक पिता हार गया। यूपी पुलिस की अभिरक्षा से गायब शिव कुमार त्रिवेदी को मृत घोषित कर दिया गया है डीएनए टेस्ट में मौत का खुलासा हुआ है।इसलिए अब कभी पन्ना का शिव बनारस यूपी से बापिश अपने घर नही आ पाएगा।वही शिव का परिवार की शिव की तलाश करते करते इतनी बुरी हालत हो गई है।कि अब परिवार के सामने दुखो का पहाड़ टूट पड़ा है। और एक पिता जिंदगी की सबसे बड़ी लड़ाई हार चुका है।कैसे पिता अपने पुत्र तलास में फिरता रहा गरीब पीड़ित परिवार ने सीबीआई जांच की मांग करते हुए दोषियों पर कार्यवाही की गुहार लगाई है

 पन्ना जिले के बड़गड़ी गांव के रहने वाले शिव कुमार त्रिवेदी को पिता ने पढ़ने के लिए बीएचयू वाराणसी भेजा था वह बीएससी की पढ़ाई कर रहा था।लेकिन 13 फरवरी 2020 को शिव बीएचयू से अचानक गायब हो गया।जिसे वाराणसी की लंका थाना पुलिस ने पकड़ा था।और थाने लेकर आई थी। जिसके बाद से शिव लापता हो गया।पिता को जैसे ही जानकारी लगी तो वह यूपी वाराणसी के लिए रवाना हो गए।और लंका थाने में जाकर पता किया। लेकिन कुछ संतोषजनक जबाब पुलिस के द्वारा नही दिया गया।एक पिता ने अपने पुत्र की तलास के लिए वाराणसी के कलेक्टर एसपी से गुहार लगाई।लेकिन शिव का कोई पता नही चला।फिर

उन्होंने 19 अगस्त 2020 को इलाहाबाद हाईकोर्ट के एक वकील से जनहित याचिका लगवाई।जिसके बाद सीबीसीआईडी को जांच सौंप दी गई।अदालत में इस केस को लेकर वाराणसी के तत्कालीन पुलिस कप्तान अमित पाठक तक को पेश होना पड़ा।अब तमाम जांच के बाद पुलिस ने ये स्वीकार कर लिया है।कि शिव को लंका थाना पुलिस के द्वारा लाया गया था।जांच में यह भी पता चला है।कि शिव के लापता होने के 3 दिन बाद वाराणसी के जमुना तालाब में जो अज्ञात शव मिला था।वो शिव का ही था। शिव के इस शव की पहचान डीएनए और विसरा की जांच से हुई है।मध्य प्रदेश के पन्ना के रहने वाले प्रदीप त्रिवेदी की पुत्र की तलाश का संघर्ष अब हार गया है।पुलिस वालों का एक और क्रूर चेहरा उजागर हुआ है। गंगा के किनारे अपने बेटे को खोजते खोजते एक पिता को अब पता चला है।कि उसका बेटा तो उसी दिन मर गया था।लेकिन पुलिस के बयानों पर उलझते उलझते दो वर्ष तक पिता ने अपने पुत्र की तलाश की। और आखिरकार पिता को वह खबर सुनने को मिली।जिसे एक पिता कभी सुनना नही चाहता था ।अब ऐसे में सवाल है कि शिव ने अगर आत्महत्या की है।तो उसने लंका थाने से निकलने के बाद 5-6 किलोमीटर दूर तालाब में ऐसा क्यों किया।जबकि 1 किलोमीटर दूर गंगा का पुल मौजूद था। दूसरा ये कि ऐसा क्या हुआ कि कैंपस में घूमता शिव अचानक थाने से निकलने के बाद मृत मिला।साथ ही क्या शिव की मानसिक स्थिति सही नही थी।अगर हां तो पुलिस ने अपनी कस्टडी से बिना बीएचयू प्रबंधन को सूचना दिए क्यों छोड़ा।

समाचार पत्रों की सुर्खियां बना शिव की मौत का मामला

हालांकि शिव के पिता प्रदीप त्रिवेदी ने मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की है। क्योंकि शिव की मौत के मामले में अभी कई राज खुलने बाकी है।जिसमें जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारियों की कार्यप्रणाली की भूमिका भी संदेह के घेरे में है।
अपने जिगर के टुकड़े की मौत के बाद से दुखी पिता प्रदीप ने पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराए जाने की मांग की है और कहा है कि जो भी दोषी हो उन पर पड़ी सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए पिता का संघर्ष ही था कि मौत के राज खोलने को प्रशासन विवश हुआ है और हाईकोर्ट के दखल के बाद दुख ही गरीब परिवार को न्याय की आस जगी ह

कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस घटना को ट्वीट करते हुए पुलिस कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं सरकार को घेर ते हुए दोषियों पर कार्यवाही की जैसे ही मांग की मामला सुर्खियों में आ गया पर पीड़ित परिवार को अब भी न्याय के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है उसने सीबीआई जांच की मांग की है

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष दिव्या रानी सिंह के कब्जे से छुड़ाकर प्रशासन कर रहा है पथ विहार का निर्माण

हाईकोर्ट से भी लगा था जुर्माना

सभी न्यायिक बाधाएं दूर हुई

नगरपालिका कर रही है पथ विहार का निर्माण

(शिवकुमार त्रिपाठी) पन्ना शहर के सिविल लाइन की बेशकीमती जमीन एवं नहरपट्टी के बहुचर्चित मामले में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल यानी एनजीटी का फैसला आया है जिसमें फरियादी की याचिका खारिज करते हुए ₹25000 कास्ट लगाई है प्रशासन से नियमानुसार वसूलने करने का आदेश दिया गया है साथ ही सभी बाधाएं दूर हो गई, अब नगर पालिका परिषद पन्ना बे रोकटोक इस बहुचर्चित जमीन मैं पथ बिहार का निर्बाध गति से निर्माण कर सकेगा अड़ंगे लगाए जाने के सभी प्रयास विफल हो गए हैं

ज्ञात हो कि करोड़ों रुपए की इस बेशकीमती जमीन में कांग्रेश पार्टी की पूर्व जिला अध्यक्ष दिव्या रानी सिंह एवं उनकी मां का फलदार वृक्ष लगाने के नाम पर कब जा था जबकि मौके पर एक भी फलदार वृक्ष नहीं है इस बहुचर्चित जमीन मामले में जब जिला प्रशासन ने कार्यवाही की तो बड़ा राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप का दौर चला था कांग्रेस की पूर्व जिलाध्यक्ष दिव्या रानी ने प्रशासन द्वारा लगाई बोर्ड फाड़ कर फेंक दिए थे, कांग्रेस पार्टी ने दिव्या रानी के पक्ष में प्रयास किया पर कानूनी रूप से दिव्या रानी ही गलत साबित हुई और आखिर उनका कब्जा हट गया प्रशासन को भी एड़ी चोटी का जोर लगाना पड़ा, यह पन्ना शहर की पॉश इलाके की बेशकीमती करोड़ों रुपए की जमीन का पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की कार्यकाल में फलदार वृक्ष लगाने के नाम पर पट्टा दिया गया था दिव्या रानी सिंह ने न्यायालय का सहारा लिया हर कोई कहीं से राहत नहीं मिली फिर उन्होंने पहले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद विष्णु दत्त शर्मा फिर मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री अपने रिश्ते के देवर बृजेंद्र प्रताप सिंह पर भी आरोप लगाए थे पर पूरी लड़ाई स्पोट और न्यायालयों के दाव पेच जुटाकर लड़ी गई पर जमीन बचा पाने में सफल नहीं हुई ,

एसडीएम से तीखी बहस नोकझोंक

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में फरियादी महेश पाल की याचिका आवेदन क्रमांक 83/2021 मैं दावा किया गया था की आराजी क्रमांक 387, 388, 389 मैं प्रशासन पथ बिहार का निर्माण कर रहा है जिसमें बड़ी संख्या में फलदार वृक्ष काटे गए हैं और पर्यावरण को क्षति पहुंचाई जा रही है जबकि यहां वन्यजीवों का रहवास है इस पर संज्ञान लेते हुए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की भोपाल खंडपीठ ने सुनवाई की और कई स्तर पर जांच कराई, वरिष्ठ अधिकारियों से मौके पर जांच कर जांच करने और पेड़ों का विवरण देने को कहा था पेड़ों के काटे जाने की संख्या भी पूछी थी पर संपूर्ण सुनवाई के बाद एक भी पेड़ काटे जाने का तथ्य सामने नहीं आया साथ ही मौके पर फलदार वृक्ष भी नहीं मिले पथ विहार के निर्माण के लिए झाड़ियां हटाने और उनकी सफाई की बात सुनवाई के दौरान सिद्ध हुई कुछ पेड़ किनारे  उखडे पड़े होने का तथ्य जरूर प्रकाश में आया इस तरह याचिका आवेदन में जो आरोप लगाए गए थे वह निराधार पाए गए जिस पर एनजीटी ने अपना फैसला देते हुए याचिका आवेदन खारिज किया और मुकदमे बाजी की खर्च वसूली का आदेश दिया है लागत 25000 की कास्ट लगाते हुए वसूली करने का आदेश सुनाया है, 

पूरे फैसले को डिटेल से पढ़ें

मद संख्या 4
नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के समक्ष
सेंट्रल जोन बेंच, भोपाल
(वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से)
मूल आवेदन संख्या 83/2021 (सीजेड)
(आईए नंबर 19/2022)
महेश पाल आवेदक

बनाम
मध्य प्रदेश राज्य प्रतिवादी

सुनवाई की तिथि: 08.04.2022
कोरम: माननीय श्रीमान। न्यायमूर्ति एसएचओ कुमार सिंह, न्यायिक सदस्य
माननीय डॉ. अरुण कुमार वर्मा, विशेषज्ञ सदस्य
आवेदक(ओं) के लिए: श्री संजय उपाध्याय, अधिवक्ता।
प्रतिवादी (ओं) के लिए: श्री सचिन के वर्मा, अधिवक्ता।
गण
1. इस आवेदन में उठाया गया मुद्दा खसरा नं. 387,
388 और 389 जैसा कि जिला पन्ना में आवेदन में उल्लिखित है, बिना किसी के
सक्षम अधिकारियों से वैधानिक अनुमति और जैसा कि आरोप लगाया गया है
प्रशासन हरित पट्टी क्षेत्र में पथ निर्माण कर रहा है।
2. आवेदक का तर्क है कि हाल ही में जिला प्रशासन
इस वन क्षेत्र के साथ और जब यह था तब विभिन्न बैरिकेड्स स्थापित किए
संबंधित अधिकारी से पूछताछ की तो बताया गया कि प्राकृतिक नाला
इस हरित पट्टी क्षेत्र में मौजूद कंक्रीट को पक्का किया जा रहा है और आगे एक सड़क की संभावना है
हरित पट्टी क्षेत्र के मध्य में निर्माण किया जाना है।
3. इस हरित पट्टी क्षेत्र के भीतर 2 स्टॉप . के साथ विरासती जल निकाय मौजूद हैं
बांध और एक प्राकृतिक नाला / जल निकाय जो पूर्ण विकसित के लिए फीडर के रूप में कार्य करता है
आस-पास मौजूद पेड़ और इस क्षेत्र में रहने वाले वन्यजीवों के आवास। गीदड़ों
और जंगली सूअर इस हरे रंग में वन्यजीवों की सबसे आम प्रजातियों में से हैं

4. इस ट्रिब्यूनल और एक संयुक्त द्वारा मामले को 08 नवंबर, 2021 को उठाया गया था समिति गठित की गई थी (i) कलेक्टर, पन्ना, (ii) संभागीय वन अधिकारी (डीएफओ), (iii) राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का एक प्रतिनिधि, और (iv) मुख्य कार्यपालन अधिकारी, नगर पालिका परिषद, पन्ना निदेश सहित साइट का दौरा करने और तथ्यात्मक और की गई कार्रवाई रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए। समिति ने साइट का दौरा किया और रिपोर्ट प्रस्तुत की जो इस प्रकार है:

5. संयुक्त समिति की रिपोर्ट के जवाब में, आवेदक ने कुछ दायर किया था
आपत्तियां कि सत्य तथ्यों को इस ट्रिब्यूनल के समक्ष प्रस्तुत नहीं किया गया था
संयुक्त समिति और तथ्य कि पेड़ बड़ी संख्या में काटे गए हैं और
जेसीबी जैसी भारी मशीनरी का उपयोग करके भूमि को साफ नहीं किया गया है
रिपोर्ट में दर्शाया गया है। आगे यह भी निवेदन किया गया है कि जिस क्षेत्र में
नाला एस्टेट टाइम्स के दौरान बनाया गया था, एक स्टॉप-डैम था, जिसे के लिए बनाया गया था
भूजल पुनर्भरण का उद्देश्य पन्ना में हमेशा पानी की कमी रही है
क्षेत्र, और नाली कभी भी किल-किला नदी या भरने के लिए फीडर नहीं थी
धर्मसागर।
6. प्रतिवादी क्रमांक 1 एवं 2 की ओर से उपस्थित विद्वान अधिवक्ताओं ने परिवाद दाखिल किया है
जवाब दिया और तर्क दिया कि याचिका को हथियाने के लिए दुर्भावनापूर्ण रूप से दायर किया गया है
सार्वजनिक भूमि और आगे प्रस्तुत किया कि मामला माननीय के समक्ष उठाया गया था
मध्य प्रदेश के उच्च न्यायालय ने रिट याचिका संख्या 22808 of 2021 में
आदेश दिनांक 28.10.2021 का आदेश दिया गया, जो इस प्रकार है:
“जबलपुर, दिनांक : 28-10-2021″
श्री हिमांशु मिश्रा के साथ श्री शशांक शेखर दुगवेकर,
याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता।
श्री प्रशांत सिंह, विद्वान महाधिवक्ता
प्रतिवादी/राज्य।
यह याचिका दायर कर निर्देश देने की मांग की गई है
प्रतिवादी/राज्य को उनके खिलाफ कोई दंडात्मक कार्रवाई नहीं करनी चाहिए
याचिकाकर्ता और अन्य परिणामी राहतें। के तहत एक आवेदन
सी.पी.सी. का आदेश 6 नियम 17 की भी मांग की गई है
वादों में संशोधन।
मुख्य रूप से, यह तर्क दिया जाता है कि उत्तरदाताओं/राज्य में
याचिकाकर्ता की संपत्ति का आड़ जो आंशिक रूप से किया गया है
अधिग्रहित कुछ संरचनाओं को ध्वस्त करने का प्रयास कर रहा है जिन पर
राज्य के पास कोई अधिकार नहीं है।
की ओर से उपस्थित विद्वान महाधिवक्ता
प्रतिवादी/राज्य का निवेदन है कि राज्य कोई कार्रवाई नहीं करेगा

जो इसे करने के लिए कानून में अधिकृत नहीं है और कुछ हद तक भूमि पहले ही अधिग्रहित किया जा चुका है और पुरस्कार पारित किया जा चुका है। इसलिए, राज्य उसके साथ कानून के अनुसार कार्य करने का हकदार है भूमि की सीमा जिस पर उसका पूर्ण अधिकार क्षेत्र है। इन परिस्थितियों में, हमें कोई आधार नहीं मिलता है इसके साथ हस्तक्षेप करें सिवाय यह देखने के कि की सभी क्रियाएं राज्य कानून के दायरे में होगा। रिट याचिका का निपटारा किया जाता है।” 7. प्रतिवादी के विद्वान अधिवक्ता ने आगे तर्क दिया है कि भूमि का कुछ भाग पहले ही अधिग्रहित किया जा चुका है और पुरस्कार पारित किया जा चुका है। इसलिए, राज्य है जनहित में कानून के अनुसार कार्य करने के लिए कार्यवाही करना। एक अन्य याचिका नं. 2021 का 22287 माननीय मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के समक्ष दायर किया गया था जबलपुर एवं न्यायालय ने दिनांक 18.10.2021 के आदेश द्वारा यह आदेश पारित किया इस प्रकार है: “तारीख: 18.10.2021 : श्री शशांक शेखर, विद्वान वरिष्ठ अधिवक्ता श्री . के साथ याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता हिमांशु मिश्रा। श्री पुष्पेन्द्र यादव, विद्वान अपर। एडवोकेट जनरल के लिए /राज्य। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सुना। याचिकाकर्ता ने वर्तमान याचिका दायर कर निर्देश देने की मांग की है प्रभाव है कि उसे निपटाने के लिए संयमित किया जाए खसरा संख्या 387 क्षेत्र 1.113 हेक्टेयर वाली भूमि से; खसरा नं। 388 क्षेत्रफल 1.044 हेक्टेयर; और खसरा नं.389 क्षेत्र 0.930 हेक्टेयर। पन्ना जिले में स्थित है। याचिकाकर्ता के अनुसार, एक पट्टा उपरोक्त सरकार आदेश के तहत वृक्षारोपण के लिए दी गई जमीन दिनांक 7.4.1994 को तहसीलदार द्वारा पारित किया गया और उसके बाद याचिकाकर्ता ने विभिन्न पेड़ लगाए थे। इसमें जल निकाय हैं और अब नगर परिषद पन्ना पेड़ों को काटने की कोशिश कर रही है

राजस्व अधिकारियों की मदद, इसलिए वे होने के लिए उत्तरदायी हैं
संयमित।
याचिकाकर्ता की ओर से उपस्थित विद्वान वरिष्ठ अधिवक्ता ने प्रस्तुत किया
कि राजस्व बोर्ड द्वारा पारित आदेश दिनांक 7.12.2016 द्वारा
मामला संख्या 2759/2013 के तहत कार्यवाही शुरू की गई। के 248(1)
एमपी। भू-राजस्व संहिता को अलग रखा गया था।
दूसरी ओर, Addl सीखा। पेश हो रहे महाधिवक्ता
उत्तरदाताओं/राज्य के लिए, प्रस्तुत करता है कि याचिकाकर्ता ने दबा दिया है
भौतिक तथ्य यह है कि उसी राहत के लिए, दीवानी मुकदमा – RCSA
संख्या 41/2021 पहले ही याचिकाकर्ता द्वारा द्वितीय . से पहले दायर किया जा चुका है
सिविल जज, पन्ना और जिसमें अस्थाई के लिए आवेदन
निषेधाज्ञा खारिज कर दी गई है। सीखा महाधिवक्ता
आगे प्रस्तुत करता है कि संशोधन संख्या 2759/2013 के खिलाफ दायर किया गया था
भूमि धारित सर्वेक्षण संख्या 280 के संबंध में आदेश दिनांक 10.07.2013,
281, 282 और 286/1। विचाराधीन भूमि के लिए अर्थात सर्वेक्षण संख्या 387,
388 और 389, जिसके विरुद्ध अलग-अलग कार्यवाही शुरू की गई
संशोधन संख्या 1889/2013 राजस्व बोर्ड के समक्ष दायर किया गया था और
इसे आदेश दिनांक 10.07.2013 द्वारा खारिज कर दिया गया है।
इसलिए, याचिकाकर्ता ने इस न्यायालय से सफाई के साथ संपर्क नहीं किया है
हाथ और अलग-अलग मामले में पारित आदेश पर भरोसा करना।
वह इस याचिका में उन सभी आदेशों को दाखिल करने के लिए समय की प्रार्थना करता है।
विद्वान अतिरिक्त को अनुमति प्रदान की जाती है। एडवोकेट जनरल टू
उपरोक्त सभी दस्तावेजों को फाइल करें।
याचिकाकर्ता को एक हलफनामा दायर करने का भी निर्देश दिया जाता है कि क्यों
इस याचिका में उपरोक्त तथ्यों का खुलासा नहीं किया गया है। अगर यह है
पाया कि यह याचिका सामग्री को दबा कर दायर की गई है
तथ्यों के साथ-साथ गलत दस्तावेज, तो उचित लागत होगी
याचिकाकर्ता पर लगाया गया।
चूंकि इस याचिका के रख-रखाव के बारे में एक मुद्दा है
और तथ्यों को छिपाने के आरोप की जांच की जानी है, नहीं
इस स्तर पर अंतरिम राहत प्रदान करने का मामला बनता है। अंतरिम

का जवाब और हलफनामा दाखिल करने के बाद राहत पर विचार किया जाएगा
याचिकाकर्ता।
22.10.2021 को सूची।”
8. माननीय उच्च न्यायालय द्वारा 22.10.2021 को मामले को फिर से उठाया गया
मध्य प्रदेश जबलपुर में और अंत में बर्खास्त के रूप में निपटाया गया था
इस प्रकार है:
“जबलपुर, दिनांक : 22-10-2021″
वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सुना।
श्री शशांक शेखर, श्री नवीन दुबे के साथ वरिष्ठ अधिवक्ता,
याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता।
श्री पुष्पेन्द्र यादव, अपर महाधिवक्ता
/राज्य।
दहलीज पर, याचिकाकर्ता निविदाओं के विद्वान वकील
याचिकाकर्ता द्वारा की गई गलती के लिए बिना शर्त माफी।
उन्होंने आग्रह किया कि गलती वास्तविक थी, इसलिए, यह हो सकता है
माफ़ किया। उन्होंने टेंडरिंग याचिका को वापस लेने की भी मांग की
सामग्री जानकारी को दबाने के लिए बिना शर्त माफी
इस न्यायालय के समक्ष।
दूसरी ओर, विद्वान अतिरिक्त महाधिवक्ता उठा
गंभीर आपत्ति और प्रस्तुत करता है कि मौजूदा परिस्थितियों में,
याचिका वापस लेने की अनुमति नहीं दी जा सकती
और यदि इसे प्रदान किया जाना है, तो एक अनुकरणीय लागत होनी चाहिए
याचिकाकर्ता पर लगाया गया।
मामले के तथ्यों और परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए और
विद्वान द्वारा दी गई बिना शर्त माफी के लिए देख रहे हैं
याचिकाकर्ता के वकील ने आश्वासन दिया कि भविष्य में ऐसे
गलती दोबारा न हो, वापस लेने की अनुमति
2,000/- रुपये की लागत के भुगतान के अधीन याचिका मंजूर की जाती है।
(रुपये दो हजार) याचिकाकर्ता द्वारा जमा किया जाना है
एमपी। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर ने स्पष्ट किया कि
याचिका वापस लेने से बर्खास्तगी अधिकार पर प्रतिकूल प्रभाव नहीं डालेगी

याचिकाकर्ता का यदि किसी अन्य उपाय का लाभ उठाकर बचाव किया जाता है।
याचिका खारिज की जाती है।”

9. विद्वान अधिवक्ता की विषयवस्तु यह है कि मामला
वृक्षारोपण या अधिग्रहण या कब्जे के मुकदमे के संबंध में या
जनता के लिए सड़क निर्माण के लिए राज्य के अधिकारियों की कार्रवाई
पानी के उचित निर्वहन के लिए नाले का मार्ग या प्रबंधन उठाया गया है
माननीय उच्च न्यायालय के समक्ष वादियों/याचिकाकर्ता द्वारा और अंतत:
सुना, निर्णय लिया और खारिज कर दिया, इस प्रकार, मामले को पहले फिर से नहीं उठाया जा सकता है
इस ट्रिब्यूनल.
10. यह आगे की ओर से उपस्थित विद्वान अधिवक्ता द्वारा प्रस्तुत किया गया है
प्रतिवादी कि जिस भूमि पर अतिक्रमण और कब्जा है
अनधिकृत व्यक्ति, द्वारा अतिक्रमण हटाने के अधीन होना चाहिए
अनधिकृत व्यक्ति और राज्य द्वारा ध्यान में रखा जाना चाहिए
सार्वजनिक उद्देश्यों के लिए प्रशासन।
11. आगे यह निवेदन किया जाता है कि मध्यप्रदेश शासन विभाग
शहरी विकास एवं आवास विभाग ने जारी किए निर्देश को हटाया है
सार्वजनिक उद्देश्यों के लिए भूमि का अतिक्रमण और उपयोग निम्नानुसार है: –
i) यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि एक बार भूमि को मुक्त कर दिया जाए
अतिक्रमण/अतिक्रमण यह नहीं होगा
अतिक्रमण/अवैध रूप से फिर से कब्जा कर लिया गया है, यह होगा
आवश्यक है कि उक्त भूमि को उठाकर सुरक्षित किया जाए
बाड़ या चारदीवारी और इसे नीचे रखा जाना चाहिए
निरंतर निगरानी।
ii) खाली भूमि पर पुनः अतिक्रमण की संभावना है
अत: इन भूमियों का उपयोग करने के लिए एक कार्य योजना तैयार की जानी चाहिए
के लिए भूमि का आवंटन और विशेष वरीयता दी जानी चाहिए
शहरी क्षेत्र में समाज के कमजोर वर्ग की आवासीय योजनाएं
क्षेत्र।
iii) शहरी उपयोगिता सेवाओं को मजबूत करने की आवश्यकता के अनुसार
सार्वजनिक पार्किंग, सार्वजनिक शौचालय, स्थानीय निकायों के अधिकारी या कोई भी
अन्य विशेषताएं जो शहरी सुविधाओं को बढ़ा सकती हैं

iv) यह देखा गया है कि नगरों के विकास के साथ
शहरी क्षेत्रों में हरित पट्टी में भारी कमी,
इसलिए, जिन भूमियों को मुक्त किया गया है
अतिक्रमणों/अतिक्रमणों पर विशेष ध्यान दिया जाए
इन जमीनों पर सार्वजनिक पार्क विकसित करें। की कॉपी
परिपत्र दिनांक 22.12.2021 को चिह्नित और दायर किया जाता है।
12. इसके अनुपालन में स्थानीय/जिला प्रशासन ने हटाने की पहल की
अतिक्रमणकारियों/माफियाओं से सार्वजनिक भूमि के अतिक्रमण के रूप में कहा गया है
ऊपर।
13. मध्य प्रदेश राज्य द्वारा जारी अधिसूचना दिनांक 22.12.2021 को पुन: प्रस्तुत किया जाता है

14. दिनांक 25.01.2022 को सुनवाई के दौरान, आवेदक ने यह उठाया
सवाल है कि जनता द्वारा बड़ी संख्या में हरे पेड़ों को काटा जा रहा है
प्रशासन और वन विभाग के सक्षम/उच्च अधिकारी
तथ्यात्मक रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। ऊपर के प्रकाश में
विवाद, प्रधान मुख्य वन संरक्षक, मध्य प्रदेश था
यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं कि नियमों का उल्लंघन कर किसी भी प्रकार के वृक्षों की कटाई नहीं की जायेगी
पर्यावरणीय मानदंड या वैधानिक अनुमति के रूप में प्रदान किया गया था और कहा गया था
वरिष्ठ अधिकारी को दौरा करने और तथ्यात्मक और की गई कार्रवाई को प्रस्तुत करने के लिए नामित करें
रिपोर्ट good। इसके अनुपालन में, रिपोर्ट निम्नानुसार प्रस्तुत की गई है:

15. प्रतिवादी के विद्वान अधिवक्ता नं. 1 ने आगे रिपोर्ट जमा कर दी है
दिनांक 07.04.2022 इस तथ्य के साथ कि 60% विकास कार्य पहले से ही है
सब्जेक्टिव साइट पर किया गया है और शेष कार्य प्रगति पर है।
16. आवेदक के विद्वान अधिवक्‍ता ने निवेदन किया है कि चूंकि वृक्ष
बिना किसी अधिकार के कटौती की जाती है, इस प्रकार कार्रवाई शुरू की जानी चाहिए
तथ्यों का उत्तर देते समय पर्यावरण मानदंड राज्य के विद्वान अधिवक्ता
ने प्रस्तुत किया है कि विकास कार्य के अनुसार लिया गया है
प्रशासन द्वारा प्रस्तुत नीति और योजना के साथ। यह है
आगे यह तर्क दिया गया कि वे पेड़ या पौधे जो के विषय थे
यह याचिका पेड़ की परिभाषा और आवश्यक के दायरे में नहीं आ रही है
सक्षम प्राधिकारी से नियमानुसार अनुमति ली गई है। में
उपरोक्त तर्कों और प्रधान प्रमुख द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट को देखते हुए
वन संरक्षक और राज्य द्वारा प्रस्तुत उत्तर और के मद्देनजर
मध्य प्रदेश के माननीय उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश नहीं है
पर्यावरण नियमों का उल्लंघन और कुछ भी नहीं पाया गया है
पर्यावरण नियमों का उल्लंघन या पर्यावरण मानदंडों का उल्लंघन।
17. राज्य के वकील ने आगे यह तर्क दिया है कि मुकदमेबाजी
उपरोक्त तथ्यों के संबंध में पार्टी को न केवल उसके समक्ष उठाया गया था
माननीय उच्च न्यायालय लेकिन पहले राजस्व मुकदमेबाजी का विषय था

मामला संख्या 2759/2013 में राजस्व न्यायालय (धारा के तहत कार्यवाही शुरू)
मध्यप्रदेश भू-राजस्व अधिनियम, 1959 की धारा 248(1) और मामला था
आगे सिविल कोर्ट के समक्ष दायर किया, जिसमें निषेधाज्ञा के लिए आवेदन किया गया था
अदालत ने खारिज कर दिया और पीड़ित व्यक्ति ने पुनरीक्षण किया, जो था
सक्षम न्यायालय द्वारा भी सुना और निर्णय लिया गया।
18. तदनुसार, आवेदन में कोई सार और योग्यता नहीं है और इस प्रकार
2021 का मूल आवेदन संख्या 83 आई.ए. 2022 के नंबर 19 हैं
मुकदमेबाजी की लागत (पच्चीस हजार रुपये) के साथ खारिज कर दिया गया जो कर सकता है
राज्य प्रशासन द्वारा नियमों के अनुसार वसूल किया जाएगा।

शिव कुमार सिंह, जेएम
डॉ. अरुण कुमार वर्मा, ईएम

 

 

बागेश्वर धाम के पीठाधीश धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पन्ना के sjs पब्लिक स्कूल का किया शुभारंभ

कहां अंग्रेजी के साथ-साथ हमें अपनी सनातन संस्कृति और हिंदू संस्कृति को कभी नहीं भूलना चाहिए

फीता काटकर उद्घाटन करते हुए महाराज और मंत्री गजेंद्र प्रताप सिंह

(शिवकुमार त्रिपाठी) पन्ना में बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर श्री क धीरेंद्र कृष्ण महाराज ने sjs पब्लिक स्कूल के उद्घाटन समारोह में शामिल हुए इस मौके पर मध्य प्रदेश शासन के खनिज मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह, पन्ना कलेक्टर संजय मिश्रा , SP धर्मराज मीणा, अतिरिक्त कार्यपालन अधिकारी अशोक चतुर्वेदी की मुख्य अतिथि मैं एक समारोह आयोजित किया गया जिसमे जिले के आला अधिकारी भी उपस्थिति में शामिल थे चमत्कारिक संत धीरेंद्र कृष्ण महाराज को साक्षात बाला जी सरकार की सिद्धि प्राप्त है अर्थात आपके बिना बोले वह मन की बात समझ जाते हैं और उसका निराकरण कर देते हैं इस मौके पर उन्होंने मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा की हमें अपनी सनातन संस्कृति को कभी नहीं भूलना चाहिय उन्होंने कहा कि वास्तव में हमारे देश में इंटरनेट हाईटेक के जमाने में इंग्लिश का बहुत महत्व है लेकिन फिर भी हम हिंदू रीति रिवाज के लोग हैं वह हमारी संस्कृति हिंदू हैं इसलिए हमें अपने सनातन धर्म को भी नहीं भूलना चाहिए इसलिए इंग्लिश के साथ-साथ हमें अपनी संस्कृति को ही आगे बढ़ाना पड़ेगा


उन्होंने कहा कि इंग्लिश मीडियम के साथ संस्कृति की संरक्षण करना भी जरूरी है और यह जो एसजेएस पब्लिक स्कूल का उद्घाटन किया गया है इससे निश्चित ही बच्चों को अच्छे संस्कार प्राप्त होंगे संत ने कहा कि आज मुझे बड़े गर्व हो रहा है कि मैं किसी भागवत और बड़े आयोजन में नहीं बल्कि एक विद्या के मंदिर में विद्यालय का उद्घाटन करने आया हूं विद्या वह धन है जो कोई कभी खरीद नहीं सकता यह वह चीज है कि जितना बांटोगे उतनी ही बढ़ती जाएगी अगर आपके पास विद्या है तो आप भूखे नहीं मर सकते


उन्हें सुनने के लिए भारी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे इस बीच मध्य प्रदेश शासन के मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि महाराज जी की कृपा से हमारे क्षेत्र में धार्मिक माहौल हो गया है और इस नवनिर्मित स्कूल से बच्चों को अच्छी शिक्षा तो प्राप्त होगी ही संस्कार भी मिलेंगे
इस बीच स्कूल के संचालक नरेंद्र शुक्ला ने कहा कि हम उच्च स्तरीय शिक्षा प्रणाली और इंटरनेशनल पद्धति से अध्यापन कार्य प्रारंभ कर रहे हैं यहां स्मार्ट क्लासों के माध्यम से बच्चों को शिक्षा दी

नरेंद्र शुक्ला ने कहा कि हम उच्च मापदंडों के साथ बच्चों को संस्कारित और स्मार्ट बनाने का प्रयास करेंगे इस मौके पर पन्ना कलेक्टर संजय कुमार मिश्रा और एसपी धर्मराज मीणा ने भी सभी को संबोधित किया समारोह में बड़ी संख्या में अभिभावक छात्र पत्रकार गणमान्य नागरिक मौजूद रहे

 

नरेंद्र शुक्ला ने जताया आभार

एस जे एस पब्लिक स्कूल के संचालक नरेंद्र कुमार शुक्ला ने स्कूल के उद्घाटन समारोह में आए विशिष्ट अतिथियों, गणमान्य नागरिकों, पत्रकारों, अभिभावकों और छात्रों का धन्यवाद ज्ञापित किया है कहा हमारा प्रयास होगा कि SJS पब्लिक स्कूल पन्ना में शीर्ष स्कूलों में शीघ्र शामिल हो और बच्चों को अच्छी शिक्षा उपलब्ध हो सके

 रामनवमी महोत्सव की प्रभात फेरी का नगर में जगह-जगह हुआ भव्य स्वागत

कांग्रेस नेता धीरज तिवारी के घर विशेष अगवानी केक कटा गया

बेटी एशा तिवारी ने न्यूयॉर्क से ऑनलाइन केक काटा, गुड्डू तिवारी की बेटी पर की गई विशेष पूजा एवं व्यवस्थाएं

कुंजवन में बंगाली समुदाय के लोगों ने अगवानी कर खिचड़ी खिलाई

(शिवकुमार त्रिपाठी) चैत्र नवरात्रि शुरू होते ही शहर का माहौल भक्तिमय हो गया है देवी मंदिरों में जहां हर ओर श्रद्धालुओं की भीड़ जुट है वही श्री राम जानकी मंदिर से निकलने वाली रामनवमी की प्रभात फेरी बड़े भव्य और दिव्य तरीके से निकाली गई बड़ी संख्या में श्रद्धालु भक्त खासकर नव युवक शामिल हुए जिसका जगह-जगह स्वागत किया गया कांग्रेस नेता धीरज तिवारी उर्फ गुड्डू भैया ने अपने घर में आज विशेष आग मानी कर आतिशबाजी की वे प्रतिदिन नवरात्रि में प्रभात फेरी का स्वागत करते हैं और नाश्ता कराते इसी क्रम में आज अपनी बेटी एशा तिवारी जो वर्तमान में न्यूयॉर्क में है जन्मोत्सव पर ऑनलाइन केक काटा और प्रभात फेरी में शामिल हुए श्रद्धालु भक्तों को शरबत सैंडविच से खिलाकर विशेष अगवानी की

राम भक्तों की मौजूदगी में बेटी एशा तिवारी के जन्मोत्सव पर केक काटते हुए कांग्रेस नेता गुड्डू तिवारी

इस बीच बड़ी संख्या में मोहल्ले के लोग परिजन शामिल हुए धीरज तिवारी के इस स्वागत के पूर्व प्रभात फेरी जब कोतवाली चौराहे स्थानीय लोगों ने चना खिलाकर प्रभात फेरी में शामिल भक्तों का स्वागत किया

इसके बात जुलूस डायमंड चौराहे पहुंचा जहां पर मोहल्ले के श्रद्धालु भक्तों ने अंगूर, आलूबंडा खिलाकर सभी का स्वागत किया फिर जुलूस कुंजवन के हरि मंदिर पहुंचा जहां बड़ी संख्या पर मौजूद बंगाली समुदाय के भक्तों ने बैंड और नृत्य के साथ स्वागत किया और भक्ति गीत गाए क्योंकि बंगाली समुदाय में नवरात्रि देवी पूजा बड़े उत्साह से होती है लिहाजा

 

बड़ी श्रद्धा के साथ प्रभात फेरी का स्वागत किया फिर प्रभातफेरी जरुआपुर, एनएमडीसी कॉलोनी , हॉस्पिटल चौक और शहर से होती हुई श्री राम मंदिर पहुंची श्रद्धालु भक्तों में भारी उत्साह था, प्रभात फेरी में धीरज तिवारी उर्फ गुड्डू भैया देवेंद्र सिंह यादव उर्फ बबलू यादव , भाजपा उपाध्यक्ष तरुण पाठक, भाजपा मंत्री कमल लालवानी ,भाजपा नेता अशोक गुप्ता चिललु सेठ अभी यादव सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए


प्रभात फेरी जब नगर से निकली तो कई जगह राम दरबार में रोककर आरती की गई इस बीच आयोजन समिति के सदस्यों ने कहा कि श्री राम जन्मोत्सव के बाद यानी रामनवमी के दिन शाम 4:00 बजे से श्री राम जानकी मंदिर से विशाल शोभायात्रा निकाली जाएगी जिसमें बड़ी संख्या में संगीत मंडलीय, डीजे , मधुरवाद्य यंत्रो के साथ भगवान की झांकी निकाली जाएगी जिसमें सभी समुदाय के लोगों,

श्रद्धालु भक्त गणों, रामनवमी की शोभा यात्रा में शामिल होने की अपील की है

 

 झंडा लेकर 20 किलोमीटर साइकिल में चले बच्चे


इस शोभायात्रा में बड़ी संख्या में श्रद्धालु भक्तों के साथ छोटे- छोटे बच्चे भी अपनी साइकिल के साथ शामिल हो रहे हैं साइकिल में झंडा लगाकर करीब 3 दर्जन बच्चे 20 किलोमीटर तक साइकिल चलाते रहे और जयघोष के साथ उनका उत्साह देखते ही बनता था इस तरह पूरे नगर का माहौल भक्ति में हो गया है

पन्ना नगर में निकला RSS का पथ संचलन,,

,एकता ,समरसता ओर राष्ट्रीयता हमारा धेय – संघ

(शिवकुमार त्रिपाठी) समाज की कुरीतियों को दूर करने और हिंदुओं में एकता का सूत्रपात करने के उद्देश्य से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का पथ संचलन आज पन्ना नगर में निकाला गया तलैया फील्ड और पॉलिटेक्निक ग्राउंड से पथ संचलन चलकर गांधी चौक में एकत्र हुआ और पूरे नगर से भ्रमण करता हुआ पुनः तलैया फिल्में एकत्रीकरण हवा और संघ की उद्देश्यों को लेकर किए गए इस पथ संचलन में बड़ी संख्या में पन्ना नगर के अलावा पूरे जिले से संघ के स्वयंसेवक शामिल हुए पूर्ण गणवेश में बड़ी संख्या में संघ के स्वयंसेवक बड़े ही अनुशासित और राष्ट्रीय सोच के साथ पथ संचलन में चल रहे थे,

नगर में निकले अनुशासित पथ संचलन का दृश्य

हजारों की संख्या में स्वयंसेवकों ने हिस्सा लिया इसके बाद सभी स्वयंसेवकों ने सावधान खड़े होकर संघ का ध्वज फहराया और ध्वज प्रणाम किया और इसके बाद मंच का बौद्धिक श्रवण किया कार्यक्रम के मुख्य अतिथि शोभाराम जी , जिला संघचालक रुद्र प्रताप एवं मुखवक्ता छेत्र कार्यवाह अशोक जी अग्रवाल मंचासीन रहे


अशोक जी अग्रवाल ने कहा कि पूज्य हेडगेवार नजर संघ की स्थापना की तो लोग संघ को गंभीरता से नहीं ले रहे थे और 25 साल तक देश में संघ को गंभीरता से नहीं लिया इसकी द्वितीय खंड 25 वर्ष में संघ का धीरे-धीरे विरोध हुआ और झूठे आरोप लगाए गए पर संघ अपने विचारों से विमुख नहीं हुआ फिर अगले 25 वर्षों में संघ का धीरे-धीरे समर्थन बड़ा और राष्ट्रीय उद्देश्य और हिंदू एकता के लिए संघ लगातार कर रख काम कर रहा है लेकिन अब देश में संघ को प्रासंगिकता अति महत्वपूर्ण हो गई है संघ के स्वयंसेवक राष्ट्र निर्माण में काम कर रहे हैं इतना ही नहीं अब संघ की लोकप्रियता इतनी बढ़ गई है कि अब लोग संघ से जुड़ना चाहते हैं उन्होंने कहा कि मैं आप सभी को बताना चाहता हूं कि संघ दल या संगठन नहीं है एक विचारधारा है

मंचासीन अतिथि

भारत हिंदू राष्ट्र है और भारत को परम वैभव तक पहुंचाने के लिए संघ कार्य कर रहा है अशोक जी अग्रवाल ने आगे कहा कि भारत शुरू से ही गुटनिरपेक्ष रहा है यही कारण है कि आज भी दुनिया में भारत पर भरोसा करते हैं अशोक जी ने आगे कहा कि अभी वर्तमान में जो युद्ध चल रहा है उस देश के लोग भी भारत की ओर देख रहे हैं और चाहते हैं कि मध्यस्थता कर इस युद्ध मैं शांति बहाली के प्रयास करें हमें भरोसा है कि भारत ही सभी देशों में शांति का प्रयास कर सकता है और पूरी दुनिया अब हमारे राष्ट्र की ओर देख रही है

ज्ञात हो कि कोरोनावायरस के कारण संघ की सार्वजनिक गतिविधियों में भी कुछ समय के लिए स्थिरता आई थी सेवा कार्य संघ के लोग लगातार कर रहे थे पर लंबे समय बाद इस तरह का सार्वजनिक कार्यक्रम किया गया और बड़ी संख्या में लोगों ने पथ संचलन में हिस्सा लिया

नगर में निकली पथ संचलन का दृश्य

मुख्य वक्ता अशोक जी अग्रवाल ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ महिलाओं के बीच में काम कर रहा है और हम लोगों के बीच में भी संघ ने कार्य प्रारंभ किया है जो समाज से छूते हैं जो बृहन्नाला होते हैं उनकी हिस्सेदारी समाज में कम है उनकी कोई सेवा नहीं करता उनके अंतिम संस्कार में भी दिक्कत आती है ऐसे में संघ ने बृहन्नाला की सेवा करने का भी कार्य प्रारंभ किया है उन्होंने कहा कि भारत हिंदू राष्ट्र है इसे कोई अस्वीकार नहीं कर सकता संघ समाज को जोड़ने का संगठन है और हमने गांव से लेकर महानगरों तक मैं लोगों को जोड़ने और सेवा का कार्य किया है समरसता राष्ट्रीयता और सेवा का काम निरंतर चलता रहेगा

बौद्धिक सुनने पहुंची श्रोता

संघ के इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में स्वयंसेवक को शामिल हुए ही जनप्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया

 

केंद्रीय मंत्री का टाइगर से दीदार

पाक भ्रमण कर मंत्री ने खुशी जाहिर की लेपर्ड टाइगर और क्रोकोडाइल देखा

पाक और टाइगर के संबंध में चर्चा करते हुए मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह विष्णु दत्त शर्मा एवं केंद्रीय मंत्री निशित प्रमाणिक

सांसद विष्णु दत्त शर्मा ने कहा कि बेतवा लिंक परियोजना से बुंदेलखंड का होगा विकास, पार्क से मिलेगा रोजगार

मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह ने खेल मंत्री से पन्ना में खेल सेंटर खोले जाने की मांग भी की टाइगर रिजर्व की विविधताओं की दी जानकारी

(शिवकुमार त्रिपाठी) पन्ना टाइगर रिजर्व बाघों के लिए देश दुनिया में फेमस है अब इसकी ख्याति लगातार बढ़ती जा रही है क्योंकि टूरिस्टो को हर रोज बाघ देखने को मिल रहे हैं यही कारण है कि बड़ी संख्या में इन दिनों टूरिस्ट पन्ना टाइगर रिजर्व पहुंच रहे हैं आज केंद्रीय गृह एवं खेल राज्यमंत्री निशित प्रमाणिक पन्ना टाइगर रिजर्व भ्रमण करने पहुंचे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह, भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष मुकेश चतुर्वेदी ,भाजपा के पूर्व अध्यक्ष सतानंद गौतम सहित बड़ी संख्या में अधिकारियों के साथ पहुंचे केंद्रीय मंत्री का सामना दो बाघों से हुआ और बहुत देर तक टाइगरों का दीदार करते रहे कि पटोला में भले ही यह दोनों भाग थोड़ा दूर रहे हो लेकिन एक झलक पाने के लिए सभी लोग उत्साहित थे मंत्री निशित प्रमाणिक ने बाघ देखने के बाद खुशी का इजहार किया इस बीच जब मंत्री प्रवेश कर रहे थे तभी जोड़ी के पास एक लेपर्ड सामने से आते दिखाई दिया अपनी मदमस्त चाल में घूम रहे इस तेंदुए को देखकर मंत्री और सांसद उत्साहित हो गए पीपल टोला में जब मंत्री बाघ दर्शन कर रहे थे तभी बड़ी संख्या में टूरिस्ट पहुंच गए क्योंकि इन दिनों पन्ना टाइगर रिजर्व फुल हाउस चल रहा है

35 जिप्सी आज प्रवेश कर टूरिस्टो को घुमाने अंदर गई थी जैसे ही इसकी सूचना मिली कि 2 भाग दिखाई दे रहे हैं सभी टूरिस्ट वहीं पहुंच गए और बहुत देर तक बाघ दर्शन किया इसके बाद मंत्री अपने दल बल के साथ वोटिंग करने गए जहां उन्होंने क्रोकोडाइल देखा टाइगर रिजर्व भ्रमण करने के बाद प्रक्रिया देते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बाघ दर्शन उत्साहित करने वाला है हमारे बंगाल टाइगर जैसे ही हेल्दी बाघ है लगातार बाघों का बढ़ना एक शुभ संकेत है उन्होंने कहा कि पन्ना की पहचान भले ही अभी तक हीरा और मंदिरों से रही हो लेकिन अब निश्चित ही बाघ के कारण पन्ना देश दुनिया में पहचाना जाएगा

इस बीच भाजपा सांसद विष्णु दत्त शर्मा ने कहां की पन्ना टाइगर रिजर्व में पर्यटकों की संख्या तेजी से बढ़ रही है और सभी को टाइगर देखने को मिल रहे हैं निश्चित ही पन्ना टाइगर रिजर्व से अब यहां रोजगार बढ़ेगा और एक पूरक रोजगार का विकल्प हमको पन्ना टाइगर रिजर्व से मिलेगा उन्होंने कहा कि पन्ना की पहचान पूरी दुनिया में बाघों के कारण बढ़ी है और हर रोज बाघ देखने को मिल रहे हैं इस बीच उन्होंने मोदी सरकार की तारीफ की कहां केन बेतवा लिंक परियोजना के लिए हजारों करोड़ का बजट स्वीकृत हो गया है इस डैम के बन जाने से पानी की बचत होगी और पूरे बुंदेलखंड में पीने और सिंचाई के लिए पानी मिलेगा

भीड़ को नियंत्रित करते दिखे टूरिस्ट

 

इस बीच बृजेंद्र प्रताप सिंह ने केंद्रीय मंत्री से बात करते हुए क्षेत्र के विकास के सहयोग की बात कही और उन्होंने कहा कि पन्ना में खेल सेंटर बन जाने से खिलाड़ियों को उचित मंच मिलेगा इस बीच बृजेंद्र प्रताप सिंह जो वाइल्ड लाइफ का अच्छा ज्ञान रखते हैं मंत्री को पार्क के बारे में और यहां मौजूद वाइल्डलाइफ की विविधताओं और पाक की विशेषताएं बताते रहे जिससे सभी महत्वपूर्ण व्यक्ति पाक भ्रमण कर उत्साहित रहे•

इसके पहले मंत्री की अगवानी गेट पर पन्ना कलेक्टर संजय कुमार मिश्रा फील्ड डायरेक्टर उत्तम कुमार शर्मा एसपी धर्मराज मीणा सहित वन विभाग के अधिकारियों ने की पूरी व्यवस्था में पुलिस राजस्व और वन अधिकारी चुस्त-दुरुस्त रहे रेंजर श्रीवास्तव स्वयं मंत्री को पार्क भ्रमण कराते रहे पार्क घूमने के बाद 10:00 बजे मंत्री जब बाहर आए तो उन्होंने प्रसन्नता जाहिर की और फिर डायरेक्टर उत्तम कुमार शर्मा से मुलाकात कर उनकी तारीफ की निश्चित ही जिस तरह से बाघों की संख्या तेजी से पन्ना टाइगर रिजर्व में बढ़ रही है लोगों का आकर्षण बढ़ रहा है और यहां बाघ देखने के लिए लोग बड़ी दूर दूर से आ रहे हैं

ज्ञात हो कि पन्ना टाइगर रिजर्व देश-दुनिया में बाघों की खात्मे के लिए कुख्यात रहा है लेकिन 2010 के बाद से जब बाहर से चार फीमेल और एक ईमेल टाइगर को लाकर यहां छोड़ा गया तब से बाघों की संख्या तेजी से बढ़ी है अब 70 से अधिक टाइगर पन्ना टाइगर रिजर्व में है और पर्यटकों को हर रोज बाघ दर्शन हो रहे हैं आज मंत्री को दो बार एक साथ दिखाई दिए जिससे टूरिस्ट खुश है यही बाग अपना की पहचान बन रहे हैं और मध्य प्रदेश का टाइगर स्टेट का खोया हुआ दर्जा ही पन्ना के कारण वापस मिला है और जो भी महत्वपूर्ण व्यक्ति यहां आता है एक बार पन्ना टाइगर रिजर्व की शेयर जरूर करना चाहता है ऐसा ही केंद्रीय मंत्री निशित प्रमाणिक ने आज किया उनके साथ गृह मंत्रालय और खेल विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे

धरमपुर में आयोजित हुआ महा शिवरात्रि महोत्सव•

मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह एवं पूर्व भाजपा अध्यक्ष सतानंद गौतम, एवं एसपी धर्मराज मीणा हुए शामिल

( शिवकुमार त्रिपाठीधरमपुर के ऐतिहासिक परमहंस आश्रम में महाशिवरात्रि के उपलक्ष में एक बड़ा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह के मुख्य अतिथि एवं भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य शतानंद गौतम की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक धर्मराज मीणा विशिष्ट अतिथि समाजसेवी विष्णु पांडे विशिष्ट अतिथि के रूप में रहे कार्यक्रम में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से कलाकारों को उचित मंच देने इस महोत्सव का आयोजन जनपद सदस्य रामबाबू गौतम ने किया था

 

इस कार्यक्रम में जबलपुर के रंगमंच कार्यक्रम मनीष अग्रवाल ने प्रस्तुति देकर लोगों को झूमने के लिए मजबूर कर दिया, भजन संगीत एवं नृत्य की इस प्रस्तुति में कलाकार महिमा गुप्ता, पूनम शर्मा, प्रशांत बाल्मिक, नमन गुप्ता ने लगातार संगीत की धुन में प्रस्तुतियां देकर लोगों को प्रभावित किया इस सांस्कृतिक कार्यक्रम को सुनने कालिंजर अजयगढ़ सहित आसपास की कई गांव के लोग मौजूद रहे
इस सांस्कृतिक कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए मध्य प्रदेश शासन के मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि परमहंस आश्रम में ऐतिहासिक दंगल होता है इस कार्यक्रम सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से कलाकारों को उचित मंच मिलेगा रामबाबू गौतम ने यह जो आयोजन किया है प्रशंसनीय है और हमारे यहां की प्रतिभाएं सामने आएंगी
कार्यक्रम के अध्यक्ष सतानंद गौतम ने आए अतिथियों को धन्यवाद दीया और इस इलाके की कलाकारों को उचित मंच और सहयोग देने की बात कही श्री गौतम ने कहा परमहंस आश्रम से लोगों की आस्था जुड़ी है और इस कार्यक्रम से लोगों में भक्ति साधना के साथ कलाकारों को उत्साहवर्धन कभी मौका मिला है विशिष्ट अतिथि समाजसेवी विष्णु पांडे ने कलाकारों को शुभकामनाएं दी और कहा ऐसे कार्यक्रम क्षेत्र में और आयोजित होने चाहिए

इस कार्यक्रम में हनुमंत प्रताप सिंह, रामबाबू गौतम, अभिमन्यु सिंह, सुखदेव गौतम, हरिओम गुप्ता, बृजेश गुप्ता, पुष्पेंद्र सोनी, प्रमोद शर्मा , मुकेश सिंह, माता प्रसाद, विकास सिंह , दिलीप विश्वकर्मा ,हरी राम , प्रेम सहित बड़ी संख्या में क्षेत्रीय जन और जनप्रतिनिधि मौजूद रहे