ताज़ा खबर
धरमपुर में आयोजित हुआ ऐतिहासिक इनामी दंगल,,, UP और MP के पहलवानों ने लगाए दाव भक्ति,साधना और उमंग के साथ नवरात्रि संपन्न, अनुभूति ग्रुप ने आयोजित किया गरबा महोत्सव, बलदेव जी मंदिर में सजा वैष्णो देवी का दरबार, गुफा देख अभिभूत हुए भक्त त्योहारी सीजन में अवैध प्लाटिंग - "स्क्वायर फिट" के नाम से बेच रहे प्लाट, पंपलेट बांटे,,,कॉलोनाईजर व रेरा लाईसेंस देखे नहीं खरीदें प्लाट अपहरण एवं हत्या के आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा, जुर्माना भी लगाया

बालू में हुई कार्यवाही से हड़कंप ,,3 एलएनटी मशीन 15 ट्रक जप्त,,, कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने दिखाए तीखे तेवर

बालू में हुई कार्यवाही से हड़कंप ,,3 एलएनटी मशीन 15 ट्रक जप्त,,, कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने दिखाए तीखे तेवर

न्ना कलेक्टर के तीखे तेवर ,,, रेत माफियाओं में हड़कंप

मोहाना, जिगनी और रामनई की खदानों में की गई कार्रवाई

(शिव कुमार त्रिपाठी) रेत के अवैध उत्खनन-परिवहन को रोकने के लिए पन्ना कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने स्वयं अंजाम दिया है
जिले के प्रशासनिक मुखिया कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने दलबल के साथ अजयगढ़ क्षेत्र की तीन रेत खदानों पर छापामार कार्रवाई को अंजाम देते हुए 3 एलएनटी मशीनें 15 ट्रक-डम्फर पकड़े हैं।जिगनी में अवैध रूप से रेत खनन कार्य में लगी रहीं दो एलएनटी मशीनें जब्त की गईं।रेत के अवैध कारोबार के खिलाफ बुधवार शाम से शुरू हुई कार्रवाई देर रात्रि तक जारी रही जिससे रेत माफियाओं में हड़कंप मचा है। पन्ना कलेक्टर द्वारा स्वयं खदानों में दबिश देकर रेत से लोड वाहनों तथा रेत का खनन करने वाली दैत्याकार मशीनों को पकड़ने की कार्रवाई देर रात तक की गई कलेक्टर ने कार्यवाही करने के बाद भी पकड़े गए सभी वाहनों पर नियमानुसार कार्यवाही का आदेश देकर कमिश्नर की मीटिंग में सागर निकल गए हुई इस कार्यवाही से जिले में हड़कंप मच गया है इन खदानों से भारी मात्रा में रेत निकाल कर यूपी की ओर बेची जा रही थी और इसकी जानकारी लंबे समय से आ रही थी जिस पर अंकुश लगाने के लिए यह कार्यवाही की गई है पन्ना कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के कार्यकाल की यह पहली बड़ी कार्यवाही है सरकार की मंशा के अनुरूप अवैध कार्य को रोकने के लिए हुई इस कार्यवाही की समाचार माध्यमों में खूब चर्चा हो रही है

कलेक्टर कर्मवीर शर्मा का कहना है कि वैधानिक कार्य को रोका नहीं जाएगा लेकिन अवैध कार्य को किसी भी कीमत में संचालित नहीं होने दिया जाएगा क्योंकि नियम विरुद्ध मशीनों से नदी में उत्खनन किया जा रहा है जो एनजीटी के नियमों का उल्लंघन है इस कारण से प्रशासन ने यह कार्यवाही की है कलेक्टर ने यह भी कहा कि इस तरह की कार्यवाही आगे भी जारी रहेगी


अजयगढ़ एसडीएम सुरेश गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि बुधवार 22 जनवरी को क्षेत्र की रेत खदानों पर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के निर्देशन एवं उनकी उपस्थिति में शाम 4 बजे से लेकर आज तड़के 3 बजे तक चली कार्रवाई में कुल 3 एलएनटी मशीनें 15 ट्रक-डम्फर पकड़े गए हैं। आपने बताया कि कलेक्टर ने कार्रवाई के लिए तीन टीमें गठित की थीं। उनके द्वारा सबसे पहले मोहाना खदान में दबिश देकर वहाँ से एक एलएनटी मशीन, रेत से लोड एक ट्रक को पकड़ा गया। इसके पश्चात कलेक्टर ने बीरा खदान का निरीक्षण किया और अंत में वे रामनई गए जहाँ से 14 ट्रक-डम्फर जब्त किए गए। एसडीएम सुरेश गुप्ता और प्रभारी तहसीलदार अजयगढ़ धीरज गौतम के द्वारा जिगनी से दो एलएनटी मशीनों को पकड़ा गया। इस कार्रवाई की भनक लगने पर रेत माफिया ने जिगनी में नदी से एलएनटी मशीनों को निकालकर समीप ही छिपा दिया था। हालाँकि रेत माफिया की यह चालाकी उसके काम नहीं आई।कई ट्रकों और मशीनों को नहीं पकड़ारामनई में बुधवार की शाम रेत का खनन करती मशीनें जिन्हें पकड़ा नहीं गया।चारों तरफ से उत्तर प्रदेश के बाँदा जिले की सीमा से घिरे पन्ना जिले के अंतिम गाँव रामनई में रेत से लोड वाहनों को पकड़ने की कार्रवाई प्रभारी तहसीलदार उमेश तिवारी के नेतृत्व में की गई थी। रामनई में वाहन बेशक सबसे ज्यादा पकड़ी गई पर लोग बता रहे हैं कि उत्तर प्रदेश की सीमा से सटे होने के कारण इसका फायदा उठाकर बहुत से ट्रक नदी पार कर यूपी और छतरपुर की ओर भाग गए हैं

उधर, अजयगढ़ एसडीएम सुरेश गुप्ता गुरुवार को रामनई गए और वहाँ एक दिन पहले पकड़े गए सभी 14 ट्रकों को चंदौरा चौकी लाकर पुलिस की सुपुर्दगी में दने की कार्रवाई कराते रहे।
चूँकि ड्रायवर भाग गए हैं इसलिए दूसरे ड्रायवरों की मदद से उन्हें सुरक्षित चंदौरा पुलिस चौकी में खड़ा कराना हमारी प्राथमिकता है, इसके पश्चात अन्य वाहनों की मौके पर जाकर जाँच की जायेगी।

कार्यवाही के दौरान पूरी रात अफरा-तफरी का माहौल रहा और जिसको जहां मौका मिला अपने वाहनों को छुपा कर खड़े करते रहे कि कहीं प्रशासन की नजर ना पड़ जाए जितने सामने मिले उन्हें पकड़ कर थानों में खड़ा किया गया है खनिज विभाग के अधिकारियों को इन पर किस बना कर कार्यवाही करने को कहा गया है

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी