ताज़ा खबर
पन्ना के भानपुर के अवैध खनन की जानकारी भ्रामक - करुणेंद्र सिंह शशि सिंह परमार बनी महिला मोर्चा पन्ना की जिला अध्यक्ष,, विजय काशी बागरी को अनुसूचित जाति जिलाध्यक्ष बने पूर्व मुख्यमंत्री की रेत जागरण यात्रा,, अजयगढ़ क्षेत्र में कांग्रेसियों का जमघट,, आरोप और प्रत्यारोप राजनीति में असरदार हुए सरदार,,,, इंदिरा गांधी और सरदार बल्लभ भाई पटेल को श्रद्धांजलि, जिला कांग्रेस अध्यक्ष शारदा पाठक के नेतृत्व में श्रद्धांजलि सभा

पन्ना के भानपुर के अवैध खनन की जानकारी भ्रामक – करुणेंद्र सिंह

पन्ना के भानपुर के अवैध खनन की जानकारी भ्रामक – करुणेंद्र सिंह

 

भानपुर के अवैध खनन की जानकारी भ्रामक – करुणेंद्र सिंह

(शिवकुमार त्रिपाठी) कांग्रेस पार्टी के द्वारा चलाए गए जन जागरण अभियान के तहत दिग्विजय सिंह ने जो रेट जागरण यात्रा की है उससे सियासी गर्ग सरगर्मियां तेज है और आज दिन भर आरोप और प्रत्यारोप का दौर रहा इस बीच कांग्रेस नेताओं की भी प्रतिक्रियाएं आई हैं जिसमें कांग्रेश नेता ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह के पुत्र ने एक प्रेस नोट जारी कर रेत खनन की सच्चाई बताई है कुछ आरोपों का जवाब दिया है

पूर्व मुख्यमंत्री राजा साहब दिग्विजय सिंह जी कल हमारे अजयगढ़ क्षेत्र भानपुर गांव में भ्रमण के लिए आए थे जन जागरण यात्रा के तहत उन्होंने आम ग्रामीण जनों की समस्याएं सुनी और गरीबों की मदद का भरोसा दिलाया इस दौरान भानपुर गांव में रेत की अवैध खनन या रेत के उतखनन की किसी तरह की कोई शिकायत स्थानीय नागरिकों एवं प्रबुद्ध जनों ने नहीं की पर कुछ लोग झूठी भ्रामक जानकारी फैला रहे हैं जो उचित नहीं है इस आशय के विचार प्रेस नोट के माध्यम से करुणेंद्र प्रताप सिंह ने जारी किए हैं उन्होंने कहा भ्रामक जानकारियां देने से गांव के लोग में असंतोष व्याप्त हो रहा है जो उचित नहीं है करुणेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि राजा साहब दिग्विजय सिंह जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान खनिज मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह जो खनन में शामिल होने के आरोप लगाए थे जबकि इस मामले से उनका कोई लेना देना नहीं है वह जानकारी भ्रामक है इस सही संपूर्ण जानकारी राजा साहब को दी जानी चाहिए थी पर कुछ लोग गलत जानकारियां दे रहे हैं
जबकि सच्चाई यह है कि मेरे नाम से भानपुर गांव में खसरा क्रमांक 81 एवं 83/2 रकबा 1.250 हेक्टेयर मुरम की खदान स्वीकृत हुई थी जिसका मैंने खनिज नियमों के अनुसार उत्खनन किया सभी राजस्व की अदायगी की यह खदान 30 सितंबर 2015 को मध्यप्रदेश गौण खनिज अधिनियम के तहत 10 वर्ष के लिए स्वीकृति हुई थी पर एकल खनिज नीति के कारण निजी भूमि की खदानें संबंधित ठेकेदार की आधीन रहेंगी इस शर्त के कारण मैंने यह खदान बंद कर दी है जो 1 जून 2020 के बाद से बंद है और यहां पर कोई भी उत्खनन या परिवहन नहीं किया जा रहा है पर्यावरण सहित समस्त नियमों का पालन किया गया पर कुछ लोग भ्रामक जानकारी दें पूर्व में हुए इस सही खनन को अवैध बताकर हमारे रिश्तेदार मंत्री परिवार को बदनाम करना चाहते हैं उनकी मंशा पूरी नहीं होगी,
उन्होंने आगे कहा कि मैं और मेरे पिता ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह कांग्रेश समर्थक है मेरी ही पार्टी के नेता जो मेरे राजनीतिक विरोधी हैं वह राजा साहब को गुमराह कर रहे हैं इस खदान से मंत्री जी का कोई संबंध नहीं है जबकि मेरे सगे परिवार की काकी साहब को 2008 कांग्रेस से टिकट मिली थी और पवई से मंत्री जी के खिलाफ चुनाव लड़ चुकी है

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी