ताज़ा खबर
CM शिवराज एवं बीडी शर्मा पन्ना में जनकल्याण एवं सुराज सभा को करेंगे संबोधित युवती एसिड मामला- आंखें सुरक्षित-- प्रशासन,, जिले में कॉग्रेस का प्रदर्शन और ज्ञापन, एसपी कलेक्टर की प्रेस कॉन्फ्रेंस और धन्यवाद किशोरी पर एसिड अटैक,, मचा हड़कंप,, एसपी,कलेक्टर मिलने पहुंचे, कांग्रेस अध्यक्ष ने की कार्यवाही की मांग बरसते पानी में कांग्रेस का प्रदर्शन,,, स्वास्थ्य आव्यवस्थाओं के खिलाफ दिया ज्ञापन

किसानों पर मेहरबान सरकार और कलेक्टर मनोज खत्री

किसानों पर मेहरबान सरकार और कलेक्टर मनोज खत्री

रकार ने किसानों का ऋण किया माफ आधार कार्ड एकत्र करना शुरू हुआ

किसानों की शासन से जुडी समस्याओं का निदान करें-कलेक्टर
पाले से फसलों के बचाव संबंधी जानकारी किसानों को ग्राम सभा लगाकर दें-कलेक्टर

मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनते ही मुख्य मंत्री कमलनाथ ने 1 घंटे में प्रदेश के किसानों का ₹200000 तक का ऋण माफ कर दिया है और इसकी विधिवत प्रक्रिया और ऋण मुक्ति आदेश दिए जाने की व्यवस्थाएं सरकार ने शुरू कर दी सहकारी बैंक से जुड़े कर्मचारी किसानों का आधार कार्ड इकट्ठा भी करने लगे हैं कालातीत ऋण के साथ साथ अभी हाल में लिया गया ऋण भी सरकार माफ करने के मूड में है इस बीच की ठंड से कम बारिश से जूझ रहे किसानों की फसलों को नुकसान हो रहा है सरकार किसानों पर तू मेहरबान है ही अब पन्ना कलेक्टर ने भी किसानों की समस्या के निराकरण के लिए मेहरबानी दिखाई है

कलेक्टर मनोज खत्री द्वारा कृषि आदान एवं उपार्जन संबंधी विभागों की बैठक में उपस्थित अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि किसानों की शासन से जुडी समस्याओं का निराकरण किया जाए। वर्तमान में तापमान लगातार गिर रहा है। जिन क्षेत्रों में पाला लगने की संभावना है उन ग्रामों मंे ग्राम सभाएं आयोजित कर फसलों को पाला से बचाने के लिए क्या-क्या उपाय किए जा सकते हैं इसकी जानकारी किसानों को दें। विशेषकर अजयगढ़ जनपद के धरमपुर क्षेत्र में पाले का प्रभाव फसलों में होता है। इस क्षेत्र के किसानों को पाला से फसलों के बचाव की जानकारी अनिवार्य रूप से दें।

बैठक में बताया गया कि जिले में मांग के अनुसार यूरिया खाद की पूर्ति हो रही है। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रत्येक सहकारी समिति में किसानों को यूरिया खाद उपलब्ध कराएं। समितियों में किसानों के विक्रय के लिए यूरिया उपलब्ध रहनी चाहिए। किसान अपने क्षेत्र की सहकारी समिति से नगद राशि देकर आवश्यकतानुसार यूरिया प्राप्त कर सकें यह सुनिश्चित किया जाए।

जिले में धान, उडद, मूंग का शासकीय मूल्य पर उपार्जन किया जा है। उन केन्द्रों में यह व्यवस्था सुनिश्चित करें कि किसान को फसल खरीदी केन्द्र पर लाने के उपरांत खरीदी उसी दिन कर ली जाए। प्रत्येक केन्द्र पर यदि फसल को छानने की आवश्यकता है तो प्रत्येक केन्द्र पर स्पाइलर गे्रेडर की उपलब्धता सुनिश्चित करें। किसानों को उपार्जन संबंधी किसी प्रकार की परेशानी न हो इस बात का ध्यान रखा जाए। उपार्जित सामग्री का भुगतान, परिवहन एवं भण्डारण नियमित रूप से किया जाना चाहिए। परिवहन की समस्या का निराकरण करने मेें क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी से सम्पर्क कर वाहनों की व्यवस्था की जाए। उपार्जित फसल को सुरक्षित भण्डारण की व्यवस्था सुनिश्चित करें। सम्पन्न हुई इस बैठक में अपर कलेक्टर जे.पी. धुर्वे, सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, तहसीलदार एवं सभी संबंधित विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी