ताज़ा खबर
CM शिवराज एवं बीडी शर्मा पन्ना में जनकल्याण एवं सुराज सभा को करेंगे संबोधित युवती एसिड मामला- आंखें सुरक्षित-- प्रशासन,, जिले में कॉग्रेस का प्रदर्शन और ज्ञापन, एसपी कलेक्टर की प्रेस कॉन्फ्रेंस और धन्यवाद किशोरी पर एसिड अटैक,, मचा हड़कंप,, एसपी,कलेक्टर मिलने पहुंचे, कांग्रेस अध्यक्ष ने की कार्यवाही की मांग बरसते पानी में कांग्रेस का प्रदर्शन,,, स्वास्थ्य आव्यवस्थाओं के खिलाफ दिया ज्ञापन

पन्ना में सुधर रहे हैं कोरोना के हालात,,, टेस्टिंग बढ़ाने की आवश्यकता,,, कलेक्टर बोले बेड,दवा,ऑक्सीजन की कमी नहीं

पन्ना में सुधर रहे हैं कोरोना के हालात,,, टेस्टिंग बढ़ाने की आवश्यकता,,, कलेक्टर बोले बेड,दवा,ऑक्सीजन की कमी नहीं

कोबिड़ कमान सेंटर टोल फ्री नंबर 18002331075

 व्हाट्सएप से कर सकते हैं संपर्क 9755991970

डॉक्टरों ने ज्वाइन किया

पन्ना जिला दूसरों को दे रहा है ऑक्सीजन

पन्ना में दवा ऑक्सीजन और बेड की कमी नहीं

(शिवकुमार त्रिपाठी) बीते कुछ दिनों से पन्ना सहित पूरे देश में कोविड से हाहाकार मचा हुआ है कोरोना तीव्र गति से बढ़ रहा है यही कारण है कि हर जगह lock-down लगा दिया गया और कोविड रोकने सब  बंद होने की स्थिति में है मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण सरकार की व्यवस्थाएं चरमरा गई है मरीज और परिजन तड़पते हुए घूम रहे हैं हर जगह हालात चिंताजनक है  पन्ना की स्थिति तब और बुरी हो गई थी जब टेस्टिंग की रिपोर्ट 1 हफ्ते तक नहीं मिल रही थी मरीज घरों में पहुंचकर दूसरों को संक्रमित कर रहे थे और कुरौना ने विकराल रूप धारण कर लिया डॉक्टरों के संक्रमित हो जाने से कोरोना वार्ड में हाहाकार मच गया था प्रशासनिक अधिकारी भी संक्रमण की चपेट में आ गए  ऐसी में हर जगह दहशत का माहौल निर्मित हो गया था पर अब धीरे-धीरे पन्ना की स्थिति में सुधार आने लगा है कोरोना मरीजों की संख्या भी घट रही है पर अब भी टेस्टिंग बढ़ाने की जरूरत महसूस हो रही है क्योंकि बहुत से लोग जो बीमार होने के बावजूद घरों में कैद है उनकी स्थिति बिगड़ सकती है

 कलेक्टर ने कोरोना व्यवस्थाओं की दी जानकारी

जिले के पूरे मामले पर पन्ना कलेक्टर संजय कुमार मिश्र ने सिलसिलेवार सरकारी व्यवस्थाओं की जानकारी दी है संजय कुमार मिश्र ने कहा की पन्ना में ऑक्सीजन की बिल्कुल भी कमी नहीं है पन्ना जिला सागर संभाग के अलावा कटनी जिले को भी ऑक्सीजन की आपूर्ति कर रहा है क्योंकि पन्ना जिले की रैपुरा में स्थित ऑक्सीजन प्लांट 2 वर्ष पूर्व बंद हो जाने पर हमने सितंबर में प्लांट मालिक को मदद कर ऑक्सीजन प्लांट चालू करा लिया था  इसके अलावा यहां कटनी जिले से विद्युत आपूर्ति होती है जिसका कनेक्शन कटा था पन्ना जिला प्रशासन के प्रयास से फैक्ट्री पुनः चालू हो गई अब पन्ना सागर संभाग के सभी जिलों में ऑक्सीजन आपूर्ति कर रहा है इसके अलावा कलेक्टर संजय कुमार मिश्र ने कहा कि निश्चित ही कोरोना संक्रमण तेजी से जिले में बढा है लेकिन स्थिति से निपटने के लिए प्रशासनिक व्यवस्थाएं पूर्ण है हमारे अभी ऑक्सीजन और सामान्य को बेड बेड 50 फ़ीसदी खाली है जरूरतमंद मरीजों को तत्काल पलंग मिल रहे हैं इसके अलावा एक हजार होम आइसोलेशन bed (पलंग) की व्यवस्था हमने कर ली है रेडमेसीविर इंजेक्शन पर्याप्त मात्रा में पन्ना में मौजूद है   उपयोग में आने वाली किसी भी दवा की कमी नहीं है कलेक्टर ने कहा कि हम फिजिकली आम जनता से भले दूर हो लेकिन कनेक्टिविटी के माध्यम से हम पास में खड़े हैं हमने कोबिड कमान सेंटर टोल फ्री नंबर 18002331075  से जोड़ दिया है इसके अतिरिक्त मैं स्वयं  व्हाट्सएप (9755991970)  के माध्यम से सीधे संपर्क में हूं जिस व्यक्ति को भी कोई समस्या हो मुझ से सीधे संपर्क कर सकता है घबराने की जरूरत नहीं है पन्ना जिले में कोविड उपचार की संपूर्ण सुविधाएं उपलब्ध है कलेक्टर संजय कुमार मिश्र ने आगे कहा कि हमारे डॉक्टर संक्रमित हो गए थे अब उन्होंने भी ज्वाइन कर लिया है कर्मठ डॉ प्रदीप  द्विवेदी  कल से कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे हैं सिविल सर्जन डॉ बीएस उपाध्याय ने आज से जॉइनिंग दे दी है इसके अतिरिक्त छतरपुर जिले से एक डॉक्टर पन्ना आ गए हैं जो सभी लोग संक्रमित मरीजों की उपचार कर रहे हैं इसके अलावा भी जो डॉक्टर है फोन और व्हाट्सएप के माध्यम से सेवारत हैं उन्होंने आम लोगों से अपील की है कि यदि असुविधा होती है तो मुझसे व्हाट्सएप के माध्यम से सीधे संपर्क करें

 

संक्रमण रोकने टेस्टिंग बढ़ाने की जरूरत

पन्ना में तेजी से कोरोना मरीज इसलिए बड़े क्योंकि यहां रैपिड  टेस्टिंग किट  नही  थी सागर से  प्राप्त होने वाली रिपोर्ट 1 सप्ताह तक नहीं मिल रही थी जिससे तेजी से मरीज बढ़े अब नियंत्रण करने के लिए टेस्टिंग किट के माध्यम से लोगों की टेस्टिंग संख्या बढ़ाने की जरूरत है यदि तेजी से टेस्ट बढ़ाए गए तो निश्चित ही कोरोना रोकने में मदद मिलेगी  टेस्टिंग बढ़ाने और रिपोर्ट शीघ्र प्राप्त होने की समस्या को जिला प्रशासन को गंभीरता से लेना चाहिए

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी