ताजा खबर विशेष खबर

चुनावी दंगल :- पहली लिस्ट 26 को, खींचतान हुई तेज

कांग्रेस और भाजपा दोनों की लिस्ट 26 को आ सकती है
पहली लिस्ट मैं सो-सो नाम
सबसे ज्यादा घमासान पन्ना विधानसभा में
सबसे लास्ट में होगी घोषणा पन्ना की घोषणा

(शिवकुमार त्रिपाठी)
चुनाव के तारीख की घोषणा होते ही लोगों ने उम्मीद की थी कि जिस तरीके से भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के आला नेता कहते रहे हैं कि 2 माह पूर्व टिकटों की घोषणा कर देंगे उम्मीद जगी थी कि आधे से अधिक टिकटों की घोषणा शीघ्र हो जाएगी पर अभी तक जो भी लिस्ट आई है वह फर्जी ही मीडिया के सहारे उजागर होती रही किसी भी बड़े राजनीतिक दल की हिम्मत नहीं हुई कि यथाशीघ्र प्रत्याशियों की सूची जारी कर सकें जिस तरीके से चुनावी समीकरण बन रहे हैं कांग्रेश और भारतीय जनता पार्टी दोनों को ही प्रत्याशियों की सूची जारी करने में डर लग रहा है सबसे ज्यादा घबराहट में भारतीय जनता पार्टी लगती है तभी तो दोनों एक दूसरे का इंतजार कर रहे हैं कि जब विरोधी की लिस्ट आ जाए तो उसी के जातिगत समीकरण ध्यान में रखते हुए अपना प्रत्याशी घोषित करें
विश्वस्त सूत्र बताते हैं कि दोनों राजनीतिक दलों की पहली 100 लोगों की लिस्ट फाइनल हो चुकी है सिर्फ घोषणा होना बाकी है जिसकी घोषणा 25 या 26 तारीख को हो सकती है तमाम सर्वे और अंदरूनी रिपोर्टों के बाद दोनों राजनीतिक दल छानबीन करके लिस्ट जारी करेंगे

अगर पन्ना जिले की बात करें तो सबसे आसान पवई विधानसभा कि प्रत्याशियों की घोषणा लगती है और पहली सूची में गुनौर विधानसभा का भी नाम है पर पन्ना विधानसभा में दोनों राजनीतिक दल पशोपेश में है और पन्ना विधानसभा के प्रत्याशी घोषणा करने में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी दोनों को घबराहट हो रही है यही कारण है कि पन्ना विधानसभा में अब तक पूरी तरीके से स्थिति क्लियर नहीं हो पाई है पवई विधानसभा में समानता माना जा रहा है कि पुराने प्रतिद्वंदी ही आमने-सामने होंगे मुकेश नायक का नाम पूरी तरीके से फाइनल है तो बृजेंद्र प्रताप सिंह 99 फीसदी आश्वस्त हैं और लोग भी यही मानकर चल रहे हैं कि उन्हें ही टिकट मिलेगी मतलब साफ है कि पवई विधानसभा में पिछली बार जैसा ही चुनाव होने वाला है और दोनों पुराने नेता संजय नगाइच और अनिल तिवारी अपने हिसाब से ही काम करेंगे

कुश्ती यानी दंगल

लिस्ट भले ही घोषणा होना बाकी हो पर पन्ना के धरमपुर में ऐतिहासिक दंगल में भारी संख्या में भीड़ के बीच परंपरागत तरीके से कुश्ती यानी दंगल खेला गया धूरिया बाबा के स्थान से लगे स्टेडियम में करीब 10000 से अधिक लोगों की मौजूदगी में दिल्ली हरियाणा पंजाब उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश से आए पहलवानों ने दंगल दिखाया और इसे देखने के लिए सभी राजनीतिक दलों के लोग बड़ी संख्या में उपस्थित रहे यूं तो प्रशासन ने शाम 5:15 बजे तक की ही परमिशन दी थी पर चुनाव के मध्य हो रहे इस दंगल में कोई उंगलियां न उठाये इसलिए आयोजन समिति ने समय से पूर्व ही दंगल संपन्न करा दिया और जो कुश्ती लड़ी गई उसमें स्थानीय पहलवानों का ही दबदबा रहा बड़ी संख्या में उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के सीमावर्ती गांव के लोग दंगल देखने को पहुंचे इसके लिए प्रशासन ने भी पुख्ता इंतजाम किए थे

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like