ताज़ा खबर
धरमपुर में आयोजित हुआ ऐतिहासिक इनामी दंगल,,, UP और MP के पहलवानों ने लगाए दाव भक्ति,साधना और उमंग के साथ नवरात्रि संपन्न, अनुभूति ग्रुप ने आयोजित किया गरबा महोत्सव, बलदेव जी मंदिर में सजा वैष्णो देवी का दरबार, गुफा देख अभिभूत हुए भक्त त्योहारी सीजन में अवैध प्लाटिंग - "स्क्वायर फिट" के नाम से बेच रहे प्लाट, पंपलेट बांटे,,,कॉलोनाईजर व रेरा लाईसेंस देखे नहीं खरीदें प्लाट अपहरण एवं हत्या के आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा, जुर्माना भी लगाया

चित्रकूट अपहरण कांड का पुलिस ने किया खुलासा, राजनीति भी शुरू :- प्रभुराम की तपोस्थली में अपहरण, फिरौती, हत्या, प्रदर्शन और लाठीचार्ज, दहशत का माहौल, मासूमों की लाशें देख लोग चीख पड़े

चित्रकूट अपहरण कांड का पुलिस ने किया खुलासा, राजनीति भी शुरू :- प्रभुराम की तपोस्थली में अपहरण, फिरौती, हत्या, प्रदर्शन और लाठीचार्ज, दहशत का माहौल, मासूमों की लाशें देख लोग चीख पड़े

पुलिस ने दी घटना की सिलसिलेवार जानकारी
आईजी चंचल शेखर ने किया खुलासा
कई सवालों का जवाब मिला अभी बाकी
राजनीति के और बढा यह अपहरण हत्याकांड

बीजेपी ने उठाए सरकार पर सवाल तो आरोपी बजरंग दल से जुड़े मिले

डकैतों के लिए बदनाम रहे मप्र और उप्र की सीमा पर बसे चित्रकूट में ऐसा घिनौना काम जो डकैतों ने नहीं किया, वह जल्द पैसा कमाने के लिए स्थानीय इंजीनियरिंग छात्रों ने कर दिया। पहले फिरौती के लिए एलकेजी में पढऩे वाले जुडवां भाइयों का अपहरण किया और पैसा मिलने के बाद भी दोनों को हाथ पैर बांधकर ओगासी के पास यमुना नदी में फेंक दिया।
शनिवार को हुई इस घटना की खबर रविवार सुबह जैसे ही चित्रकूट तक पहुंची लोगों का गुस्सा फूट गया। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस ने सुरक्षा इंतजाम कर भारी बल तैनात किया है। रीवा रेंज के चारों जिला का बल तैनात किया गया है।
स्कूल बस से अपहृत 2 मासूम बच्चों के शव उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में अगासी के पास यमुना में मिले हैं। पुलिस ने शव के पोस्टमार्टम कराकर छह लोगों को हिरासत में लिया है। 20 लाख की फिरौती लेने के बाद भी इन लोगों ने बच्चों को सिर्फ इसलिए मार डाला कि अपहरण करने वालों ने बच्चों से पूछा कि क्या तुम हमें पहचान लोगे- इस पर बच्चों ने हां में जवाब दिया और उन्होंने बच्चों को मार दिया। अपहरण करने वाले मोबाइल की जगह इंटरनेट के जरिए बातचीत करते थे। शुरुआती दौर में एक करोड़ की फिरौती मांगी थी। पकड़ गए छात्रों में एक चित्रकूट विवि का छात्र है।
वहीं छिपा रखा था 
अपहरण करनेे के छात्रों ने जानकी कुंड पानी टंकी के पास एक किराए के मकान में छात्रों को बेहोशी की हालत में रखा हुआ था। मोहल्ले में इन बच्चों को 3 दिन तक रखा था। पहचान उजागर होने की आशंका पर 20 लाख रुपये की फिरौती के बाद भी उन्होंने बच्चों की के हाथ पैर बांधकर यमुना नदी में फेंक दिए। जिन छह लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है ये कम समय में अधिक पैसा कमाना चाहते थे। आरोपियों में एक स्कूल के सुरक्षा गार्ड का बेटा, एक बच्चों कोचिंग पढ़ाने वाला लडक़ा, एक बीटेक छात्र और एक पुरोहित का बेटा शामिल है। जिन्हें हिरासत में लिया गया है उसमें पदम शुक्ला, राजू दिवेदी, छोटू सिंगर विष्णु शुक्ला जो बजरंग दल से जुड़ा बताया जा रहा है को पुलिस ने राउंडअप किया है

आईजी चंचल शेखर ने कहा की मुख्य सरगना पदम शुक्ला है बजरंग दल से जुड़े विष्णु शुक्ला का भाई है स्वभाविक है अब इस पर राजनीति होगी
क्योंकि बीजेपी के बड़े नेता सरकार पर सवाल उठा रहे हैं इतना ही नहीं पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने भी इस को लेकर सरकार पर निशाना साधा है अब जब बजरंग दल का नाम और गाड़ी में बीजेपी का झंडा जैसे बातें जुड़ गई हैं तो इस पूरे मामले पर राजनीति भी होगी जहां एक और इन मासूमों की हत्या से लोग दुखी है इस जघन्य, निर्मम, अमानवीय घटना को अंजाम देने वाले नरपिशाचो पर सख्त कार्रवाई की मांग उठ रही है वहीं यह मामला राजनीतिक रंग लेते दिखाई दे रहा है क्योंकि राजनीति करने वाले लोग दुखी परिवार से संवेदना प्रकट करने की बजाय अपने फेसबुक पोस्ट ओं पर इस तरीके की पोस्ट भेजने लगे हैं संभव है कि अब यह राजनीतिक युद्ध के रूप में इन मासूमों की हत्या को बदला जाएगा जबकि नैतिकता का तकाजा है की दुखी परिवार की भावनाओं को लोग समझे और उनके दुख में साथ खड़े हो

कुछ समय के लिए तो चित्रकूट की सड़कें इस तरह जल उठी जैसे 2002 में हुए ग्रामोदय में अपहरण और प्रदर्शन के बाद हालात बेकाबू हुई थे

घटना की खबर लगते ही चित्रकूट में हालात बिगड़ गए एक तरफ जहाँ स्थानी लोग सड़कों पर उतर आए स्कूल प्रबंधन को गिरफ्तार करने की माँग को लेकर ट्रस्ट के कैम्पस में घुसने लगे पुलिस बल ने रोका ओर देखते ही देखते हालात बिगड़ गई जिस पर पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा प्रदर्सन करियो ने भी पत्थर बाजी की पुलिस को अंशु गैश के गोले दागने पड़े। ट्रस्ट के लोग भी लाठी डंडे लेकर जवाब देते दिखे।पुलिस ने सभी पर लाठियां भांजनी शुरू की जैसे तैसे हालात को काबू में किया गया है।
मौके पर सतना कलेक्टर, एस पी भी मौजूद रहे सतना कलेक्टर ने पुलिस बल को एल एम जी माउंट करने के निर्देश दिए है।लाठी चार्ज और पुलिस व जिला प्रशाशन के एक्सन मोड के चलते अब धार्मिक नगरी चित्रकूट में ख़ौफ़ का सन्नाटा है।

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी