ताज़ा खबर
CM शिवराज एवं बीडी शर्मा पन्ना में जनकल्याण एवं सुराज सभा को करेंगे संबोधित युवती एसिड मामला- आंखें सुरक्षित-- प्रशासन,, जिले में कॉग्रेस का प्रदर्शन और ज्ञापन, एसपी कलेक्टर की प्रेस कॉन्फ्रेंस और धन्यवाद किशोरी पर एसिड अटैक,, मचा हड़कंप,, एसपी,कलेक्टर मिलने पहुंचे, कांग्रेस अध्यक्ष ने की कार्यवाही की मांग बरसते पानी में कांग्रेस का प्रदर्शन,,, स्वास्थ्य आव्यवस्थाओं के खिलाफ दिया ज्ञापन

पन्ना जिले के अजयगढ़ क्षेत्र में रेत लोडिंग में विवाद हुआ , फायरिंग, सनसनी और FIR दर्ज,,,, विवाद के बाद दहशत फैली, पुलिस छावनी बना केन नदी का पाट

पन्ना जिले के अजयगढ़ क्षेत्र में रेत लोडिंग में विवाद हुआ , फायरिंग, सनसनी और FIR दर्ज,,,, विवाद के बाद दहशत फैली, पुलिस छावनी बना केन नदी का पाट

पन्ना जिले की सुनहरा रेत खदान में गोली चलाकर फैलाई सनसनी, भारी तोड़फोड़, तनाव के हालात
टोकन के बगैर सीधी बालू भरे जाने के बाद हुआ था विवाद
कैंप में तोड़फोड़ फायरिंग और गाड़ियों के शीशे तोड़े
2लाख 26हजार 250 रुपए भी लूटे
दो एफ आई आर दर्ज
एलएनटी मशीन भी पकड़ी गई
फायरिंग के दौरान जान बचाने बाला नदी में छलांग लगाने वाला ड्राइवर गायब

पन्ना जिला अंतर्गत रेत कारोबारियों ने आपस में विवाद कर सनसनी फैली दी। अजयगढ़ थाना क्षेत्र के बीरा चौकी अंतर्गत सुनहरा खदान में रेत आगे भरने को लेकर कुछ ट्रक चालकों में विवाद इतना बड़ा की एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर गोलियां चला दी। पिस्टल से निकली बुलट ने ट्रक में दो फायर भी किए।
प्राप्त जानकारी के अनुसार भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष के बेटे का हाईवा रेत लेने गया था तभी जनपद पंचायत अजयगढ़ का भतीजा वहां पहुंचा और आगे रेत भरने को लेकर हुए विवाद में दनादन गोलियां चलने लगी मारपीट हुई और दहशत का माहौल निर्मित हो गया जिसमें मारपीट से बचने के लिए एक ड्राइवर ने नदी में छलांग लगा दी जो अभी तक गायब बताया जा रहा है
गोली चलने की सूचना मिलने के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में अजयगढ़ थाना पुलिस आसपास के थाना क्षेत्रों का बल लेकर मौके के लिए रवाना हो गई। कई रेत कारोबारियों ने एक दूसरे के वाहनों पर तोडफ़ोड़ भी की है।
पूरे क्षेत्र में वारदात के बाद हालात बेकाबू हो गए। पन्ना एसपी विवेक सिंह ने हालात पर काबू करने के लिए जिला मुख्यालय से बल को भी भेजा और दोनों पक्षों में शांति स्थापित करने के साथ पुलिस ने कार्यवाही शुरू की है
एडिशनल एसपी बीकेएस परिहार और अजयगढ़ की एसडीओपी इसरार मंसूरी ने पूरे क्षेत्र में घूम घूम कर घटना का जायजा लिया और इसके बाद बताया कि तीन एफ आई आर दर्ज कराने की आवेदन प्राप्त हुए हैं जिसमें शिवा कार्पोरेशन की ओर से विवाद के बाद एक सुरक्षा गार्ड ने अपनी लाइसेंसी बंदूक से फायर किया था जिस पर मामला दर्ज किया गया है इसी तरह कैंप में तोड़फोड़ करने वाले पांडे परिवार के लोगों पर बिना नाम की अज्ञात पाछे लोगों पर एफ आई आर दर्ज की है

जिसकी नामों की जांच की जा रही है और पता लगाया जा रहा है कि कौन कौन लोग हैं जिन्होंने कैंप में तोड़फोड़ कर फायरिंग की साथ ही शिवा कार्पोरेशन की ओर से कैंप में तोड़फोड़ और पैसे लूटे जाने का भी आवेदन दिया गया है जिसे रोज नाम चे में दर्ज कर लिया गया और घटना की जांच की जा रही है एडिशनल एसपी ने कहा की लूट की एफआईआर अभी दर्ज नहीं हुई पर पुलिस ने मामले को विवेचना में लिया है

वहीं इस संबंध में सुनहरा रेत खदान के मैनेजर जसपाल सिंह ने बताया कि सुनहरा की वैधानिक रेत खदान शिवा कार्पोरेशन की है नियमानुसार हम लोग रेट की लोडिंग और परिवहन का काम कर रहे थे तभी कुछ लोगों ने कैंप में आकर गाली-गलौज की कर्मचारियों को मारा और धमकी दी इसके बाद फायर करते हुए गाड़ी तो डाली और दहशत फैला दी इस संबंध कि हमने एफ आई आर दर्ज कराई है और वह जो मारपीट करने वाले थे कैंप में जो रेत की बुकिंग का पैसा जमा किया जा रहा था उसमें ₹226250 थी जिसे बक्शा उठाकर फेंक दिया और पूरे रुपए ले गए पुलिस में इसकी एफ आई आर कराई है मैनेजर ने बताया कि कांग्रेश जब से सत्ता में आई है तो कांग्रेसी नेता बिना पैसे की जबरजस्ती बालू अपने ट्रकों में भरबाना चाहते हैं जो कंपनी ने नहीं किया इस कारण से यह फायरिंग किया गया है

वहीं जिस हाईवे ड्राइवर के साथ मारपीट की गई है उसके मालिक जीतेंद्र चतुर्वेदी ने बताया कि कलिंजर और ड्राइवर को गंभीर चोट लगी है ड्राइवर प्राण बचाकर भागा है जो नदी में कूद गया और गायब है ड्राइवर कहां गया अब तक पता नहीं चला है लूट के आरोप झूठे उज्जवल इस संबंध में बात करते हुए

जनपद पंचायत के अध्यक्ष के भतीजे उज्जवल पांडे ने बताया कि जब मैं पहुंचा इसके पहले पुलिस पहुंच गई थी जो लूट की बात या मेरे ऊपर जो आरोप लगाए जा रहे हैं वह झूठे हैं लूट नहीं हुई है हमारी गाड़ी ट्रक रेत भरने गई थी और मेरी ड्राइवर से मारपीट की जाने लगी तब मैं पहुंचा और इसके पहले पुलिस को फोन कर सूचना भी दी थी और पुलिस भी पहुंच गई थी और लूट की घटना नहीं हुई वहीं उज्जवल ने कहा कि मेरे चाचा की राजनीतिक विरोधी इस मामले में फंसाने की कोशिश कर रहे हैं लूट या मारपीट में मेरा हाथ नहीं है सब झूठा है

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी