ताज़ा खबर
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा के कहने पर बिंदिया मनु चौबे ने लिया नामांकन वापस उत्तराखंड बस हादसा :-  पन्ना में स्थापित किया गया कंट्रोल रूम के नंबर 07732252342 , 250204, हर संभव मदद करेंगे - बीडी शर्मा पन्ना में 2 लोगों को भालू ने जिंदा खाया,, लोगों में आक्रोश,, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने जताया शोक जिला पंचायत नामांकन :- वार्ड 7 से मनु चौबे की पत्नी बिंदिया , भाजपा जिलाध्यक्ष राम बिहारी चौरसिया की पत्नी रेखा, 10 से भाजयुमो अध्यक्ष भास्कर पांडे की पत्नी मोहिनी और 13 से कांग्रेस नेता वीरेंद्र द्विवेदी की पत्नी पूनम ने नामांकन दाखिल किया

कलेक्टर संजय कुमार मिश्रा ने पदभार ग्रहण किया,, जनता की समस्याओं का निराकरण पहली प्राथमिकता

कलेक्टर संजय कुमार मिश्रा ने पदभार ग्रहण किया,, जनता की समस्याओं का निराकरण पहली प्राथमिकता

पन्ना कलेक्टर बने संजय कुमार मिश्रा पदभार ग्रहण किया

पन्ना के कलेक्टर रहे कर्मवीर शर्मा ने गणेश चतुर्थी के शुभ अवसर पर जबलपुर में ज्वाइन किया

(शिवकुमार त्रिपाठी पन्ना)
मध्य प्रदेश सरकार द्वारा बीती देर शाम 3 IAS अधिकारियों की स्थानांतरण आदेश जारी होते ही अधिकारियों ने अपनी नवीन पदस्थापन में ज्वाइन कर लिया है पन्ना कलेक्टर संजय कुमार मिश्रा ने गणेश चतुर्थी के शुभ अवसर पर आज दोपहर नवीन कलेक्ट्रेट भवन पहुंचकर पदभार ग्रहण कर लिया और सभी विभाग के अधिकारी कर्मचारियों से विभागों के कार्य की जानकारी ली और सभी लोगों से जनता की समस्याओं के त्वरित निराकरण करने और सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का तत्परता से क्रियान्वयन करने के आदेश दिए
फोन पर बात करते हुए पन्ना जिले के नए कलेक्टर संजय कुमार मिश्रा ने बताया कि मेरी प्राथमिकता जनता की समस्याओं का त्वरित निराकरण है किसी भी व्यक्ति को परेशान होने नहीं दिया जाएगा उन्होंने कहा शासकीय कार्यालयों में लोगों को अनावश्यक चक्कर न काटना पड़े इस तरह की व्यवस्था भी की जाएगी

चुनौतियां

पन्ना में राजस्व और वन भूमि विवाद के कारण अधिकांश राजस्व में संचालित हीरा और पत्थर खदान बंद हो गई हैं जिससे यहां के अधिकांश लोग बेरोजगार हो गए सीमा विवाद हल कर वैधानिक हीरा और पत्थर का उत्खनन शुरू कर आना प्रमुख चुनौतियों में होगा
पन्ना पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थान है यहां के खूबसूरत मंदिर झरने और पहाड़ों तथा वाइल्डलाइफ के प्रति आकर्षण पैदा करने पर टूरिज्म बढ़ाने पर विशेष ध्यान देना होगा

रुंझ, मजगांव , भीतरी मुतमुरु डेम की सिंचाई परियोजनाओं का कार्य या तो बंद है या बहुत धीमी गति से चल रहा है इन्हें चालू करा कर किसानों को खेतों तक पानी उपलब्ध कराना सबसे बड़ी चुनौती होगी
इसके अलावा जो चोरी-छिपे लोग जंगल काट रहे हैं उन्हें रोजगार उपलब्ध कराना और उद्योग बिहीन जिले में एक भी इंडस्ट्री नहीं है अगर वह उद्योग शुरू करा सके तो सर्वश्रेष्ठ कलेक्टरों में गिना जाएगा

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी