ताज़ा खबर
CM शिवराज एवं बीडी शर्मा पन्ना में जनकल्याण एवं सुराज सभा को करेंगे संबोधित युवती एसिड मामला- आंखें सुरक्षित-- प्रशासन,, जिले में कॉग्रेस का प्रदर्शन और ज्ञापन, एसपी कलेक्टर की प्रेस कॉन्फ्रेंस और धन्यवाद किशोरी पर एसिड अटैक,, मचा हड़कंप,, एसपी,कलेक्टर मिलने पहुंचे, कांग्रेस अध्यक्ष ने की कार्यवाही की मांग बरसते पानी में कांग्रेस का प्रदर्शन,,, स्वास्थ्य आव्यवस्थाओं के खिलाफ दिया ज्ञापन

आंकड़ों को बेहतर बनाने पन्ना में कोरोना से पहली मौत के मामले को उलझाने में जुटा स्वास्थ्य विभाग,,, मृतक के 3 परिजन कोरोना पॉजिटिव निकले, टिकुरिया मोहल्ले में हड़कंप

आंकड़ों को बेहतर बनाने पन्ना में कोरोना से पहली मौत के मामले को उलझाने में जुटा स्वास्थ्य विभाग,,, मृतक के 3 परिजन कोरोना पॉजिटिव निकले, टिकुरिया मोहल्ले में हड़कंप

पन्ना के 82 साल के वृद्ध की जबलपुर में मौत, वृद्ध के 3 परिजन निकले पॉजिटिव

जिले में कोरोना के 11 नए मामले, शहर में निकले 5 कोरोना मरीज

 

वृद्ध की मौत की गणना को लेकर स्वास्थ्य विभाग मौन, आंकड़ों को बेहतर बताने की कवायत

267 पर पहुंचा कोरोना का आंकडा, 221 मरीज हो चुके है डिस्चार्ज

लगातार बढ रहा कोरोना का ग्राफ, सावधानी बरतने की जरूरत

पन्ना जिले में कोरोना के मामले लगातार बढ रहे है। पन्ना शहर में कोरोना संक्रमितों के ग्राफ  लगातार इजाफ ा हो रहा है। बीते दिनों शहर के टिकुरिया मोहल्ला निवासी 82 वर्षीय बुजुर्ग की जबलपुर में कोरोना से मौत हो गई थी। जिसके सम्पर्क में आये तीन परिजनों की कोरोना रिपोर्ट आज पॉजिटीव आई है। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना बुलेटिन में बुजुर्ग की मौत की जानकारी नहीं दी। लेकिन पन्ना जिले में कोरोना से एक मौत हो गई है। आज शहर में 5 नए कोरोना के मरीज मिले, तो वही जिले भर में रविवार को कोरोना के 11 नए मरीज मिले है। पन्ना शहर में टिकुरिया मोहल्ला में तीन मरीज, जगात चौकी में एक मरीज व बडाबाजार में एक मरीज की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के मुताबिक सागर लैब से आज 351 सैम्पल प्राप्त हुए है, जिनमें से 340 सैम्पलों की रिपोर्ट निगेटिव व 11 सैम्पल पॉजिटीव प्राप्त हुए है। जिनमें शहर के टिकुरिया मोहल्ला में 52 वर्षीय पुरूष, 32 वर्षीय, 52 वर्षीय महिला एवं जागात चौकी में 64 वर्षीय पुरूष सहित शहर के बडाबाजार में 49 वर्षीय पुरूष की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटीव पाई गई है। इसके अलावा पन्ना विकासखण्ड के ग्राम इटवांकला में 48 वर्षीय पुरूष, अमागनंज के वार्ड क्रमांक-14 में 50 वर्षीय पुरूष, विकासखण्ड गुनौर के अन्तर्गत ग्राम भटिया में 12 वर्षीय बालिका एवं पवई विकासखण्ड के ग्राम महोडकला में 22 वर्षीय पुरूष की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटीव पाई गई है। साथ ही शाहनगर में 50 वर्षीय दो पुरूषों की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटीव आई है। इस प्रकार जिले में कोरोना के कुल मामले 267 हो चुके है। जिनमें से 221 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज भी किये जा चुके है। आज दिनांक को कोविड केयर सेंटर मॉडल स्कूल पन्ना में भर्ती 2 मरीज, कोविड केयर सेंटर अजयगढ में भर्ती 2 मरीज एवं कोविड केयर सेंटर पवई में भर्ती 1 कोरोना पॉजिटीव मरीज के स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज कर होम आईसोलेट कर दिया गया है। वर्तमान में कोविड-19 एक्टिव पुष्ट केस की संख्या 38 है। जिनकों जिले के विभिन्न कोविड संस्थानों में भर्ती कर चिकित्सकों की देखरेख में आवश्यक उपचार किया जा रहा है।

बुजुर्ग की कोरोना से मौत पर सवाल


शहर के टिकुरिया मोहल्ला निवासी बुजुर्ग वैसे तो हार्ट पेशेंट थे, लेकिन उनकी मौत से पहले कोरोना जांच में उनकी रिर्पोट पॉजिटिव आई थी। उनके संपर्क में आए परिजनों की भी आज रिर्पोट कोरोना पॉजिटिव है। बताया जाता है कि बुजुर्ग का उपचार जलबपुर में चल रहा था, लेकिन कुछ समय पूर्व उन्हें जिला चिकित्सालय में भी भर्ती किया गया, जहां उनकी कोरोना जांच की गई थी, लेकिन उसके परिणामों का कोई अता-पता नहीं है। जबकि जबलपुर में उन्हें कोरोना की पुष्टी हुई। भले ही बुजुर्ग की मौत जबलपुर में हुई, लेकिन उनकी गणना पन्ना में की जानी चाहिए थी। स्वास्थ्य विभाग के हेल्थ बुलेटिन में कटनी में पॉजिटिव पाई गई युवती को पन्ना में गिना गया था, उसी तरह बैंगलौर में उपचार करा रहे एक मरीज को भी पन्ना के कोरोना मरीजों में गिना गया। इसी तरह हमीरपुर उत्तरप्रदेश के पन्ना में पॉजिटिव मरीज की गणना पन्ना में नहीं हुई। क्योंकि उसे ग्रह जिले में गिना गया। ऐसे में बुजुर्ग की मौत के बाद भी पन्ना में कोरोना से मौत का आंकड़ा आज भी शुन्य है। इसे लेकर सवाल किए जा रहे हैं। हालाकि इस मामले में अभी स्वास्थ्य विभाग ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है

रिफर के पहले क्यों नहीं कराया गया बुजुर्ग का कोरोना टेस्ट,, इसी लापरवाही से संक्रमित हुए परिजन

पन्ना जिला अस्पताल में 25 तारीख को भर्ती हुए मृतक बुजुर्ग को सागर रिफर गया था जबकि व्यवस्था के अनुसार किसी भी व्यक्ति को अगर रेफर किया जाता है तो उसका करोना रिपोर्ट अनिवार्य होती है पर सबसे बड़ी लापरवाही यह हुई कि पन्ना में सुविधा होने के बावजूद भी मृतक बुजुर्ग का कोरोना टेस्ट नहीं कराया गया इसी कारण से उनकी परिजनों में करोना का संक्रमण हुआ और तीन लोग पॉजिटिव पाए गए जो कोरोना के मामले में गंभीर लापरवाही है तमाम संसाधन और  करोना के लिए विशेष बजट होने के बावजूद  स्वास्थ्य विभाग गंभीरता से काम नहीं कर रहा जो गंभीर लापरवाही है अगर ऐसे ही लापरवाही होती रही तो जिले के लोगों को इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की लापरवाही चिंता का विषय है

इनका कहना है..

.

अभी वृद्व की कोरोना रिपोर्ट प्राप्त नही हुई है। क्योकि वृद्व का कोरोना टेस्ट जबलपुर में हुआ था पन्ना में नही किया गया था, मुत्यु प्रमाण पत्र व कोरोना रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्यवाही की जायेगी। स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही नहीं है

डॉ. एल.के. तिवारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी पन्ना।

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी