ताज़ा खबर
CM शिवराज एवं बीडी शर्मा पन्ना में जनकल्याण एवं सुराज सभा को करेंगे संबोधित युवती एसिड मामला- आंखें सुरक्षित-- प्रशासन,, जिले में कॉग्रेस का प्रदर्शन और ज्ञापन, एसपी कलेक्टर की प्रेस कॉन्फ्रेंस और धन्यवाद किशोरी पर एसिड अटैक,, मचा हड़कंप,, एसपी,कलेक्टर मिलने पहुंचे, कांग्रेस अध्यक्ष ने की कार्यवाही की मांग बरसते पानी में कांग्रेस का प्रदर्शन,,, स्वास्थ्य आव्यवस्थाओं के खिलाफ दिया ज्ञापन

ककरहटी सड़क हादसा :- मां की मौत के बाद मासूम हुए अनाथ,, नहीं मिली सरकारी मदद

ककरहटी सड़क हादसा :- मां की मौत के बाद मासूम हुए अनाथ,, नहीं मिली सरकारी मदद

ककरहटी सड़क हादसे में मरने वालों की संख्या 5 हुई

 घटना के लिए पुलिया और सड़क विभाग जिम्मेदार 

पहले पिता अब मां की मौत से मासूम हुए अनाथ 

5 महिलाओं की मौत इलाके में शोक का माहौल 

नहीं मिली सरकारी मदद

बीती रात ककरहटी के पास नॉट की पुलिया में हुए भीषण सड़क हादसे में मरने वालों की संख्या 5 हो गई है ककरहटी के मशहूर मिठाई रसभरी दुकान के मालिक महेश गुप्ता की परिवार के लोग शादी समारोह में शामिल होने के बाद जब घर आ रहे थे तभी से ककरहटी से 2 किलोमीटर दूर नॉट की पुलिया में स्विफ्ट डिजायर गाड़ी के असंतुलित हो जाने से हुए भीषण हादसे में एक ही परिवार के रिश्तेदारों कि मैं 5 महिलाओं की मौत हो गई है 4 महिलाएं की घटना स्थल में मौत हुई जबकि एक किशोरी 17 वर्षीय कुमारी पूजा गुप्ता निवासी बिरसिंहपुर जिला सतना की रीवा ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई महेश गुप्ता के परिवार के ही रिश्तेदार गुलाब गुप्ता उर्फ बड़ी मौसी, ज्योति गुप्ता, मुन्नी गुप्ता तथा अंजू गुप्ता की मौत हो गई जो महेश गुप्ता की रिश्ते में बहन एक मौसी एक बेटी और एक साली की बेटी थी साथ में एक अन्य गरीब परिवार की महिला की मौत हुई है इस घटना के बाद से जहां इलाके में शोक का माहौल है वही घटना के बारे में तरह-तरह की चर्चाएं जोरों पर है क्योंकि पुलिया लंबे समय से हादसे का कारण बनी हुई है और प्रशासन के लोगों को जानकारी होने के बावजूद उसमें सुधार नहीं किया गया

 घटना के लिए पुलिया और सड़क विभाग जिम्मेदार 

दरअसल नॉट की इस पुलिया के साथ ही सड़क में टर्न है पुलिया सीसी की बनी हुई है और दोनों ओर से रोड 5 इंच धस गई जिससे पुलिया ब्रेकर का काम करने लगी है सड़क से गुजर रहे राहगीर पुलिया के इस गड्ढे और ब्रेकर आकार से अनभिज्ञ ड्राइवर ने जैसे ही गाड़ी निकाली गाड़ी उचट गई और असंतुलित होते हुए खाई में पलट गई जिसमें 5 महिलाओं की मौत हो गई यदि समय रहते पुलिया के पास बने इस ब्रेकर नुमा आकार गड्ढे को समतल कर दिया गया होता तो इस तरह का बड़ा हादसा नहीं होता

अनाथ हुए मासूम नहीं मिली सरकारी मदद

ककरहटी निवासी कन्हैया लाल गुप्ता उर्फ लल्लू की पहले ही मौत हो गई है उसकी पत्नी अंजू गुप्ता मजदूरी और दूसरों के घरों में बर्तन धुल कर अपने छोटे-छोटे दो बच्चों का पालन पोषण करती थी जिसके दो बच्चे 7 वर्ष की बेटी कुमारी अनुष्का और 9 वर्ष का बेटा कृष्णा के साथ रहती थी मजदूरी कर पेट पालने वाली अंजू गुप्ता कि इस हादसे में मौत हो जाने के बाद दोनों मासूम अनाथ हो गए हैं घर में दो वक्त की रोटी के लिए भी जुगाड़ नहीं है पर सरकार की तमाम योजनाएं होने के बावजूद अंत्येष्टि के लिए कोई सरकारी मदद भी नहीं मिली अब यह मासूम बच्चे मां-बाप दोनों की खत्म हो जाने के बाद किसके सहारे जीवन यापन करेंगे और क्या खाएंगे यह सोच सोच कर लोग परेशान हैं क्योंकि बेटी अनुष्का मानसिक रूप से भी कमजोर है और इनका पालन पोषण करने वाला भी कोई इस दुनिया में नहीं बचा और इन बच्चों को कोई मदद देने वाला भी नहीं है और सरकार की किसी योजना का लाभ भी इन बच्चों को नहीं मिला अनाथ हुए इन बच्चों को समाज और शासन से मदद की दरकार है लोगों ने मदद कर अंत्येष्टि के लिए सहयोग किया है प्रशासन को चाहिए कि मजदूर महिला की बच्चे अनाथ हुए बच्चों को सरकारी मदद दिलाई जाए जिससे इन अनाथ मासूमों का भविष्य सुरक्षित हो सके और यह भूख से अपना जीवन बर्बाद न कर सके

पोस्टमार्टम हाउस पीड़ितों से मिलने पहुंचे विधायक शिवदयाल बागरी 

हुए इस भीषण हादसे में 5 लोगों की मौत के बाद पीड़ित परिवारों को ढांढस बंधाने कोई बड़ा प्रशासनिक अधिकारी नहीं पहुंचा और कोई राजनेता भी दर्द बांटने नहीं आया पीड़ित परिवार के लोग की स्थानीय लोग और परिजन ही मदद करने में जुटे रहे करीब 10:00 बजे कांग्रेस पार्टी के जिले से एकमात्र विधायक शिवदयाल बागरी पीएम हाउस पीड़ित परिवारों से मिलने पहुंचे जब उन्हें यह पता चला कि इस भीषण हादसे में दो बच्चे अनाथ हो गए हैं और कोई सरकारी मदद नहीं मिली है तब उन्होंने तत्काल कलेक्टर एसडीएम और सीएमएचओ को फोन लगाया और इन्हें अपनी जिम्मेदारी का एहसास कराने की कोशिश की विधायक शिवदयाल बागरी ने कहा कि सरकार की तमाम योजनाएं हैं प्रशासनिक अधिकारियों को तत्काल इन गरीब बच्चों की मदद करनी चाहिए थी लेकिन अब तक कोई मदद नहीं की गई यह बड़े दुख की बात है मैं जो संभव होगा सहयोग करूंगा पर कलेक्टर एसडीएम और सीएमएचओ को भी सामाजिक और अपने प्रशासनिक दायित्वों का निर्वहन करते हुए गरीब परिवार की मदद के लिए आगे आना चाहिए शिव दयाल ने बागरी ने कहा कि इस घटना और प्रशासनिक अधिकारियों के ऐसे व्यवहार से दुखी हूं और मैं जो मदद कर सकता हूं करूंगा

तत्काल होना चाहिए पुलिया और सड़क में सुधार

ककरहटी के पास पुलिया में के कारण जो घटनाएं हो रही हैं तत्काल पुलिया के ब्रेक अनुवाद इन गड्ढों को भरने के लिए सड़क विभाग को सामने आना चाहिए और खासकर कलेक्टर पन्ना मनोज खत्री को ध्यान देना चाहिए कि इस पुलिया में सुधार हो जिससे आगे ऐसे हादसे ना हो

अनाथ मासूमों को मदद की दरकार

ककरहटी सड़क हादसे की मृतक अंजू गुप्ता की अंत्येष्टि के लिए उसका कोई  बारिश नहीं है अंतिम संस्कार की क्रियाएं कर सकें लिहाजा गांव के लोगों ने इलाहाबाद में ही अंत्येष्टि करने का फैसला लिया और गांव के लोग उसे लेकर इलाहाबाद चले गए पर वापस आने के बाद कृष्णा और अनुष्का जो अबोध हैं उन्हें देश दुनिया के बारे में ज्यादा नॉलेज नहीं है अपना पेट कैसे पा लेंगे इसकी चिंता है इस कारण से समाज के जिम्मेदार लोगों को इन मासूम बच्चों के भविष्य को सहेजने के लिए मदद के लिए आगे आना चाहिए यदि छोटी-छोटी मदद भी लोग कर दें तो अनाथ हुए इन बच्चों का जीवन संवर सकता है क्योंकि अनुष्का जो बेटी है वह मानसिक रूप से पूरी तरह से स्वस्थ नहीं है और बच्चों की उम्र ऐसी नहीं है कि वह मजदूरी कर अपना पेट पाल सकें

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी