ताज़ा खबर
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा के कहने पर बिंदिया मनु चौबे ने लिया नामांकन वापस उत्तराखंड बस हादसा :-  पन्ना में स्थापित किया गया कंट्रोल रूम के नंबर 07732252342 , 250204, हर संभव मदद करेंगे - बीडी शर्मा पन्ना में 2 लोगों को भालू ने जिंदा खाया,, लोगों में आक्रोश,, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने जताया शोक जिला पंचायत नामांकन :- वार्ड 7 से मनु चौबे की पत्नी बिंदिया , भाजपा जिलाध्यक्ष राम बिहारी चौरसिया की पत्नी रेखा, 10 से भाजयुमो अध्यक्ष भास्कर पांडे की पत्नी मोहिनी और 13 से कांग्रेस नेता वीरेंद्र द्विवेदी की पत्नी पूनम ने नामांकन दाखिल किया

लडका-लड़की ने जहर खाया, लड़की की मौत :- प्रेम प्रसंग का मामला

लडका-लड़की ने जहर खाया, लड़की की मौत :- प्रेम प्रसंग का मामला

प्रेम प्रसंग के चलते युवक युवती ने जहर खाया
युवती की मौत
परिजनों ने किया शादी से मना,तब जहर खाया

पन्ना शहर के कटरा मोहल्ला स्थित एक मकान में किराए से रह रहे युवक प्रभात साहू ने अपनी प्रेमिका पारुल उर्फ पार्वती अहिरवार के प्रेम प्रसंग के चलते एक साथ जहर खा लिया है जिसमें छतरपुर निवासी पार्वती अहिरवार की मौत हो गई प्रेमी प्रभात साहू गंभीर हालत में जिला चिकित्सालय के आईसीयू वार्ड में भर्ती है दोनों छतरपुर के रहने वाले हैं और प्रेमिका सूरत और छतरपुर में ब्यूटी पार्लर का काम किया करती थी और अपने परिवार के भरण-पोषण में मदद करती थी अपने पिता की 6 संतानों में सबसे बड़ी पारुल ही थी परिजनों ने प्रभात साहू और उसके भाई पर जबरदस्ती जहर खिलाकर हत्या करने का आरोप लगाया है पिता रामरतन अहिरवार ने कहा कि प्रभात साहू और उसके भाई ने जहर खिलाया है और यह आत्महत्या नहीं हत्या का मामला है

पुलिस ने छतरपुर की चौबे कॉलोनी निवासी प्रभात साहू जिला चिकित्सालय में भर्ती है उससे पूछताछ शुरू कर दी है और मर्ग कायम कर मामले की विवेचना की जा रही है कि आखिर इन दोनों ने क्यों और किन परिस्थितियों में जहर खाया लड़के ने बताया है कि हम दोनों शादी करना चाहते थे और दोनों के ही परिवार के लोग तैयार नहीं थे इसलिए जहर खा लिया
कोतवाली टीआई अरविंद कुजूर ने कहा कि मामले की विवेचना की जा रही है प्रथम दृष्टा एक प्रेम प्रसंग के चलते ऐसा हुआ है और पुलिस सभी पहलुओं पर विचार कर रही है लड़के ने बताया कि लड़की गोलियां लेकर आई थी और उसके परिवार के लोग शादी नहीं करने देना चाहती थी इसलिए खा ली , पूरा मामला संदेहास्पद लग रहा है

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी