सांसद बीडी शर्मा एवं मंत्री बृजेंद्र सिंह के प्रयास से रेलवे में नौकरी के आवेदन फार्म जमा होना शुरू,, 28 तक भोपाल में जमा कर सकेगे फार्म

रेलवे लाइन के लिए अधिग्रहित की जमीन के पीड़ितों के फार्म नहीं जमा कर रहा था रेलवे

11नाबम्बर2019 से लगा दिया था फार्म जमा करने पर प्रतिबंध

सांसद ने रेलवे मंत्री और संसद में उठाया था मुद्दा

50 से अधिक लोगों ने जमा किए फार्म

(शिवकुमार त्रिपाठी ) खजुराहो के सांसद एवं भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा  एवं मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह  ने पन्ना में रेल लाइन शुरू करने का वादा किया है उसके लिए प्रयास कर रहे हैं और रेलवे लाइन में पढ़ने वाली जमीन का अधिग्रहण भी हो गया पर देवेंद्रनगर से पन्ना की ओर जिन लोगों की भूमि का अधिग्रहण हुआ है उस में देरी के कारण और एसपीएम पन्ना द्वारा भू अधिग्रहण प्रमाण पत्र जारी न करने से पीड़ित फार्म जमा नहीं कर पा रहे थे जिन लोगों के आवेदन पत्र कंप्लीट हो गए वे जब भोपाल डीआरएम फॉर्म जमा करने पहुंचे तो वहां आवेदन फार्म लेने से मना कर दिया गया था इस मामले की जब जानकारी खजुराहो सांसद विष्णु दत्त शर्मा को लगी तब उन्होंने इस पर संज्ञान लिया और रेलवे प्रबंधन को पत्र लिखा साथ ही रेलवे मंत्री से भी बात की जो पीड़ित है जिनकी जमीन का अधिग्रहण हो गया है उन्हें रोजगार उपलब्ध कराने की  व्यवस्था का पालन किया जाए और जो लोग आवेदन लेकर दर-दर भटक रहे हैं उनके फार्म अवश्य जमा कराकर वैधानिक कार्यवाही की जाए सांसद के इस प्रयास के बाद भोपाल के डीआरएम ऑफिस में आवेदन फार्म जमा होना शुरू हो गया है पन्ना से पहुंचे लोगों के कल 20 से अधिक फार्म जमा किए गए जिसकी सूचना मिलते ही आज बड़ी संख्या में पन्ना के लोग भोपाल फार्म जमा करने पहुंचे हैं जिसके लगातार आवेदन फॉर्म जमा किए जा रहे हैं अब तक 50 से अधिक लोगों के फार्म जमा हो चुके हैं

 28  सितंबर तक होंगे फार्म जमा

जो जानकारी प्राप्त हुई है 28 सितंबर तक लोग फार्म जमा कर सकते हैं  रेलवे बोर्ड ने आवेदन फार्म लेने से मना कर दिया था जिसकी जमीन अधिग्रहण में चली गई और मुआवजा मिल गया वह नौकरी के लिए दर-दर भटक रहे हैं इन्होंने क्षेत्रीय विधायक एवं मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह से भी मदद की गुहार लगाई थी उन्होंने व्यक्तिगत रूप से प्रयास किए सांसद और मंत्री के प्रयास के बाद पन्ना के लोगों को उम्मीद जगी है कि अब रेलवे में नौकरी मिलेगी और जो पन्ना के साथ पक्षपात किया जा रहा था वह नहीं होगा