ताज़ा खबर
CM शिवराज एवं बीडी शर्मा पन्ना में जनकल्याण एवं सुराज सभा को करेंगे संबोधित युवती एसिड मामला- आंखें सुरक्षित-- प्रशासन,, जिले में कॉग्रेस का प्रदर्शन और ज्ञापन, एसपी कलेक्टर की प्रेस कॉन्फ्रेंस और धन्यवाद किशोरी पर एसिड अटैक,, मचा हड़कंप,, एसपी,कलेक्टर मिलने पहुंचे, कांग्रेस अध्यक्ष ने की कार्यवाही की मांग बरसते पानी में कांग्रेस का प्रदर्शन,,, स्वास्थ्य आव्यवस्थाओं के खिलाफ दिया ज्ञापन

अयोध्या में गूँजा जय सियाराम, PM ने रखी मंदिर निर्माण की आधारशिला ,,, पन्ना में कोरोना धमाका

अयोध्या में गूँजा जय सियाराम, PM ने रखी मंदिर निर्माण की आधारशिला ,,, पन्ना में कोरोना धमाका

प्रधानमंत्री ने साष्टांग दंडवत होकर जन्मभूमि की जमीन पर रखी आधारशिला ,,,,अब भव्य राम मंदिर का होगा निर्माण

*पन्ना नगर में कोरोना धमाका आज 5 मिले संक्रमित,, जिला पंचायत कार्यालय सील*

कोरोना योद्धा भी शामिल ....
पन्ना के मनरेगा अतिरिक्त परियोजना अधिकारी 55 वर्ष निकले संक्रामित...

25 वर्षिय नर्स की भी रिपोर्ट पॉजिटिव.....

बीते दिन आये सबइंजीनयर के परिवार के माता 50 वर्ष पिता 62 वर्ष पत्नी 28 वर्ष कोरोना संक्रमित.....

कोरोना संक्रमित मरीजों का अकड़ा पहुंचा 114

89 स्वास्थ्य होकर हो चुके डिसचार्ज 22 एक्टिव मामले


(शिवकुमार त्रिपाठी)

अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राम जन्मभूमि मंदिर का भूमिपूजन किया. करीब 500 साल से जिन लम्हों का इंतजार था, वो लम्हा आज अवधनगरी में फलीभूत हो गया. करोड़ों राम भक्तों का सपना आज साकार हो गया है. बेहद शुभ मुहूर्त में राम मंदिर का भूमि पूजन संपन्न हुआ. साथ ही मंदिर निर्माण का शुभारंभ हो गया.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम जन्मभूमि मंदिर की नींव में नौ शिलाएं रखीं. भूमि पूजन का शुभ मुहूर्त 12 बजकर 44 मिनट पर था, लेकिन उससे पहले पूरे विधि विधान से इस महाआयोजन की शुरूआत हुई. 12 बजकर 7 मिनट पर पीएम मोदी भूमि पूजन के लिए पहुंचे. दो मिनट के अंदर ही भूमि पूजन की शुरूआत हुई.

यजमान के रूप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमि पूजन स्थल पर एक ओर बैठ चुके थे. प्रकांड विद्वानों ने मंत्रोच्चार शुरू किया. भूमिपूजन के दौरान संघ प्रमुख मोहन भागवत मौजूद थे. सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन भी पूजा में शामिल थीं. भूमि पूजन में बैठे पीएम मोदी पूरी तरह से लीन हो कर मंत्रोच्चार दोहराते हुए अराधना में डूबे थे.
सभी देवी देवताओं से राम मंदिर निर्माण का आग्रह हो रहा था. अराध्य देवताओं का स्मरण किया जा रहा था. शुभ मुहूर्त पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आधारशिला रखी. जिस जगह पर रामलला विराजमान थे, वहीं पर 9 शिलाएं रखी गई थीं, जिसे सफेद कपड़े से ढंका गया था.

अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर की आधारशिला रखने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभा को संबोधित किया. उन्होंने बताया कि दुनिया के कितने देशों में और किन-किन रूपों में भगवान राम मौजूद हैं.

 

अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर की आधारशिला रखने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभा को संबोधित किया. उन्होंने बताया कि दुनिया के कितने देशों में और किन-किन रूपों में भगवान राम मौजूद हैं. पीएम मोदी ने कहा कि भारत की आस्था में राम हैं, भारत के आदर्शों में राम हैं. भारत की दिव्यता में राम हैं, भारत के दर्शन में राम हैं.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि तुलसी के राम सगुण राम हैं, तो नानक और कबीर के राम निर्गुण राम हैं. भगवान बुद्ध भी राम से जुड़े हैं तो सदियों से ये अयोध्या नगरी जैन धर्म की आस्था का केंद्र भी रही है. राम की यही सर्वव्यापकता भारत की विविधता में एकता का जीवन चरित्र है. आज भी भारत के बाहर दर्जनों ऐसे देश हैं जहां, वहां की भाषा में रामकथा प्रचलित है.
प्रधानमंत्री ने कहा, मुझे विश्वास है कि आज इन देशों में भी करोड़ों लोगों को राम मंदिर के निर्माण का काम शुरू होने से बहुत सुखद अनुभूति हो रही होगी. आखिर राम सबके हैं, सब में हैं. जीवन का ऐसा कोई पहलू नहीं है, जहां हमारे राम प्रेरणा न देते हों. भारत की ऐसी कोई भावना नहीं है जिसमें प्रभु राम झलकते न हों. भारत की आस्था में राम हैं, भारत के आदर्शों में राम हैं! भारत की दिव्यता में राम हैं, भारत के दर्शन में राम हैं.

जहां टेलीविजन में पन्ना जिले के लोग राम जन्मभूमि के भवन मंदिर निर्माण की आधारशिला रखे जाने का कार्यक्रम देख रहे थे तभी पन्ना में कोरोना की रिपोर्ट आई जिससे हड़कंप मच गया प्रशासन ने जिला पंचायत कार्यालय में ताला लगाकर सील कर दिया है पन्ना नगर में 5 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए जाने के बाद से हड़कंप की स्थिति निर्मित हो गई है सिविल लाइन में एक ही परिवार के सभी सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं तो हॉस्पिटल में ड्यूटी करने वाली एक नर्स कोरोना से संक्रमित मिली है जिससे फिर स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया इसी तरह जिला पंचायत कार्यालय के अतिरिक्त कार्यक्रम संबंधित मनरेगा भी कोरोना से संक्रमित पाए गए जिससे जिला पंचायत कार्यालय में ताला लगा दिया गया है पन्ना नगर में कुरौना की इस धमाकेदार इंट्री से लोगों में डर का माहौल पैदा हो गया है और लगातार करो ना कि मरीज बढ़ रहे हैं इस कारण सभी को सावधानी बरतनी चाहिए जब पन्ना में करो ना नहीं था तब तो लोग सुरक्षित मास्क लगाकर दिख रहे थे लेकिन जब से पन्ना नगर में कोरोना के मरीज आ रहे हैं तब यहां के लोग कुछ ज्यादा ही लापरवाह दिख रहे हैं सड़कों पर बगैर मास्क के सोशल डिस्टेंसिंग को धता बताते हुए निकल रहे हैं जो ठीक नहीं है पन्ना कलेक्टर कर्मवीर शर्मा और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एलके तिवारी ने लोगों से अपील की है कि खुद सुरक्षित रहने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मांस का अवश्य लगाएं और सुरक्षित रहे यदि कोई व्यक्ति बिना मास्क की पाया जाता है तो उन पर कार्यवाही की जाएगी

स्कंद पुराण के वैष्णव खंड सात में अयोध्या महात्म्य का जिक्र करते हुए श्लोक 18 से 25 में भगवान राम के जन्मस्थान का न सिर्फ महत्व बताया गया है, बल्कि आस-पास के पौराणिक स्थलों का जिक्र करते हुए एक-एक इंच माप भी तय की गई है। अब उसी गर्भगृह पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच अगस्त को भूमिपूजन कर पहली ईंट रखेंगे।
विज्ञापन

श्रीरामजन्मभूमि मंदिर कई मायने में अद्भुत और अकल्पनीय होगा। भक्तों को सिंहद्वार से ही करीब सवा तीन सौ फुट दूर गर्भगृह में विराजमान रामलला के दर्शन होंगे। पूरब स्थित मुख्य सिंहद्वार के अलावा प्रार्थना मंडप और कीर्तन मंडप से होकर दो और बड़े द्वार होंगे। गर्भगृह का परिक्रमा पथ भी खुला रहेगा।

भूमिपूजन अवसर पर पीएम नरेंद्र मोदी परिसर में निरीक्षण के दौरान राममंदिर के कॉरिडोर और परिसर की भव्यता को लेकर अहम सुझाव दे सकते हैं। सोमपुरा परिवार भी उन लम्हों का इंतजार कर रहा है, जब भूमिपूजन के साथ उनके डिजाइन पर भव्य राम मंदिर निर्माण शुरू होगा। राममंदिर के मुख्य वास्तुकार चंद्रकांत सोमपुरा के पुत्र आर्किटेक्ट आशीष सोमपुरा व निखिल सोमपुरा अहमदाबाद से अयोध्या पहुंच हैं।

राममंदिर को खास नागर शैली में बनाया जाएगा। मंदिर दो की जगह अब तीन मंजिला होगा। मुख्य ढांचा वैसा ही रखा गया है, जैसा प्रस्तावित मॉडल में था।
नए डिजाइन के साथ भव्यता का वैभव

वास्तुकार के मुताबिक भारतीय मंदिरों के स्थापत्य की तीन शैलियां हैं- नागर, द्रविड़ और वेसर। राम मंदिर को उत्तरभारत की प्रचलित नागर शैली में डिजाइन किया गया है। इस शैली में मंदिर का गर्भगृह अष्टकोणीय आकार में होता है और मंदिर की परिधि वृत्ताकार बनाई जाती है। गुजरात में सोमनाथ मंदिर भी इसी शैली में बना है। मूल डिजाइन में बदलाव के बाद अब मंदिर में 318 खंभे बनेंगे।

मंदिर की लंबाई 360 फुट, चौड़ाई 235 फुट और ऊंचाई 161 फुट होगी। मंदिर के गर्भगृह से पहले तीन शिखर वाले स्थान होंगे। सबसे पहले भजन-कीर्तन का स्थान, दूसरे में ध्यान और तीसरे में राम लला के दर्शन की व्यवस्था होगी।
गर्भगृह में जाने की अनुमति नहीं
गर्भगृह में पुजारी के अलावा और किसी को जाने की अनुमति नहीं होगी। मंदिर के दूसरे तल पर राम दरबार होगा, जहां भगवान राम, सीता और लक्ष्मण-भरत, शत्रुघ्न के साथ हनुमान भी विराजमान होंगे।

जिला चिकित्सालय का स्टाफ ही नहीं लगाता मास्क

जिला चिकित्सालय में पदस्थ स्टाफ भी बीते कुछ दिनों से लापरवाही कर रहा है सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन तो करते ही हैं मास्क और अन्य सुरक्षा उपकरणों का उपयोग नहीं करते इस पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एनके तिवारी ने कहा कि यह बात सही है और हमें शपथ जानकारी मिल रही है कि कई कर्मचारी लापरवाही कर रहे हैं मास्क नहीं लगाते इन सभी को आदेशित किया गया है कि अनिवार्य रूप से पूरे समय मास धारण करें यदि कोई व्यक्ति या कर्मचारी बिना मास के पाए जाते हैं तो उनके ऊपर अनुशासनहीनता की कार्यवाही की जाएगी मास्क ना लगाने वालों के खिलाफ FIR की निर्देश है यदि कोई खासकर कर्मचारी ऐसा करता है तो उन्हें छोड़ा नहीं जाएगा

ऐसे बचे कोरोना से,, नहीं माने तो विकराल रूप धारण करेगा संक्रमण

जब पन्ना नगर में कोरोना नहीं था तब लोग सुरक्षित रहने संसाधनों का उपयोग कर रहे थे अब करो ना आ गया है तो ज्यादा लापरवाह हो गए हैं ऐसे में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ LK तिवारी ने कहा है कि अब सुरक्षित रहना ज्यादा जरूरी है अन्यथा लापरवाही की स्थिति में पन्ना नगर में कोरोना विकराल रूप धारण कर सकता है इसलिए कोरोना से बचने के लिए अनिवार्य रूप से मास्क धारण करें डॉ तिवारी ने कहा कि कोरोना से घबराने और परेशान होने की जरूरत नहीं है तीन मुख्य कारण है जिससे कोरोना से बचा जा सकता है यदि आप बिना मास्क धारण किए लगातार 15 मिनट या इससे अधिक समय तक 1 मीटर से कम दूरी तक सीधे संपर्क में रहते हैं तो वह व्यक्ति हाई रिस्क जोन में आ जाता है और ऐसे व्यक्ति को कोरोना होने की संभावना बढ़ जाती है इसलिए मास्क धारण करने के साथ किसी से कनबत्तू न करें यानी थोड़ा दूर बैठकर ही बात करें जिससे संक्रमण से बहुत आसानी से बचा जा सकता है 15 मिनट से कम संपर्क में रहने वाले व्यक्ति को संक्रमण होने की संभावना कम रहती है इसलिए सैनिटाइजर का उपयोग करते हुए बचकर रहें और यदि कोरोना हो जाता है तो स्वास्थ्य विभाग की सेवाएं ले घबराए नहीं परेशान न हो

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी