ताज़ा खबर
CM शिवराज एवं बीडी शर्मा पन्ना में जनकल्याण एवं सुराज सभा को करेंगे संबोधित युवती एसिड मामला- आंखें सुरक्षित-- प्रशासन,, जिले में कॉग्रेस का प्रदर्शन और ज्ञापन, एसपी कलेक्टर की प्रेस कॉन्फ्रेंस और धन्यवाद किशोरी पर एसिड अटैक,, मचा हड़कंप,, एसपी,कलेक्टर मिलने पहुंचे, कांग्रेस अध्यक्ष ने की कार्यवाही की मांग बरसते पानी में कांग्रेस का प्रदर्शन,,, स्वास्थ्य आव्यवस्थाओं के खिलाफ दिया ज्ञापन

आंगनवाड़ी केंद्र बना प्राइमरी स्कूल,,, स्मार्ट लुक के साथ ककरहटी में हुआ उद्घाटन

आंगनवाड़ी केंद्र बना प्राइमरी स्कूल,,, स्मार्ट लुक के साथ ककरहटी में हुआ उद्घाटन

0प्र0 शासन महिला एवं बाल विकास विभाग भोपाल की मंशानुसार प्रत्येक परियोजना से एक-एक आॅगनवाडी केन्द्र को प्री स्कूल की तरह बाल शिक्षा केन्द्र के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया गया! जिला कार्यक्रम अधिकारी उदल सिंह ठाकुर के निर्देशन एवं परियोजना अधिकारी अशोक विश्वकर्मा के मार्गदर्शन में परियोजना पन्ना ग्रामीण अन्तर्गत सेक्टर ककरहटी के आॅगनवाडी केन्द्र महात्मा गाॅधी वार्ड क्रमाॅक 02 को बाल शिक्षा केन्द्र के रूप में विकसित किया गया हैं। बाल शिक्षा केन्द्र के रूप में विकसित किए गए आॅगनवाडी केन्द्र का शुभारंभ कार्यक्रम आज दिनाॅक 28.08.2019 को आयोजित किया गया।

शुभारंभ कार्यक्रम की अध्यक्षता श्याम बिहारी कोरी अध्यक्ष नगर पंचायत ककरहटी द्वारा की गई। कार्यक्रम में पधारे मुख्य अतिथि श्री आनंद शुक्ला बतौर विधायक प्रतिनिधि गुनौर द्वारा रिविन काट कर बाल शिक्षा केन्द्र का शुभारंभ किया गया एवं अपने उद्वोधन में जन समुदाय को बताया गया कि हर विकासखंड में एक बाल शिक्षा केंद्र होगा। इन केंद्रों को छोटे बच्चों की रुचि के अनुरूप विकसित किया जाएगा। आंगनवाड़ी केंद्रों में आने वाले तीन से छह वर्ष उम्र तक के बच्चों के लिए 19 विषयों का माहवार पाठ्यक्रम निर्धारित किया गया है। सत्र में स्वयं की पहचान, मेरा घर, व्यक्तिगत साफ-सफाई, रंगों और आकृति, तापमान एवं पर्यावरण, पशु-पक्षी, यातायात के साधन और सुरक्षा के नियम, हमारे मददगार मौसम और बच्चों का आत्मविश्वास तथा हमारे त्योहार शामिल हैं।

इसी क्रम में परियोजना अधिकारी श्री विश्वकर्मा द्वारा बताया गया कि बाल शिक्षा केंद्र में 3 से 6 वर्ष तक के बच्चों के लिए आयु समूह के अनुसार, तीन ऐक्टिविटी वर्कबुक तैयार की गई हैं। बच्चों के विकास की निगरानी के लिए शिशु विकास कार्ड बनाए गए हैं। आंगनवाड़ी शिक्षा केंद्रों में खेल-खेल में बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए दैनिक गतिविधियां होंगी। इसमें क्रियात्मक खेल, रचनात्मक नाटक या नकल करने वाले खेल, सामूहिक और नियमबद्ध खेल शामिल हैं। इन केंद्रों पर खेलों के आधार पर बच्चों से अलग-अलग गतिविधियां करवाई जाएंगी। बच्चों को आकर्षित करने के लिए आंगनवाड़ी बाल शिक्षा केंद्र में रंग-बिरंगी साज- सज्जा की जाएगी। कक्ष में दीवारों पर चार्ट, पोस्टर, कटआउट आदि लगाए जाएंगे। बच्चों द्वारा बनाई गई सामग्री का भी प्रदर्शन किया जाएगा। बड़े समूह की गतिविधियों के लिए कक्ष के एक कोने में मंच की व्यवस्था रहेगी, जहां बच्चे विभिन्न तरह की गतिविधियां प्रस्तुत कर सकेंगे।

विज्ञप्ति में बताया गया है कि बाल शिक्षा केंद्र के कक्ष के अंदर का वातावरण छोटे बच्चों की रुचि एवं विकासात्मक जरूरतों के अनुसार बनाया गया है। बच्चों के खेलने के लिए अलग-अलग कोने, जैसे- गुड़ियाघर का कोना, संगीत का कोना, कहानियों का कोना, विज्ञान एवं पर्यावरण प्रयोग का कोना आदि बनाए गए हैं। कार्यक्रम के अंत में श्री पुनीत तिवारी विकासखण्ड समन्यव्यक एवं सेक्टर पर्यवेक्षक श्रीमती करूणा अवस्थी द्वारा उपस्थित सभी जन प्रतिनिधियों एवं नागरिकों का धन्यवाद किया गया। कार्यक्रम में नगर पंचायत ककरहटी के पार्षद एवं गणमान्य नागरिक तुलसीदास त्रिपाठी, जावेद खान, तुलसी दास यादव, पूरन सिंह यादव, अरुण त्रिपाठी, कड़ोरी बाल्मीक, नूर मोहम्मद, राम भगत चैधरी, संदीप शुक्ला, राम लगन चैधरी, अमरनाथ त्रिपाठी, अशोक पाण्डेय, पुष्पेन्द्र शर्मा, रामलगन तिवारी, हरी प्रसाद पाठक नगर पंचायत ककरहटी की समस्त आॅगनवाडी कार्यकताॅए उपस्थित रहीं।

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी