ताज़ा खबर
CM शिवराज एवं बीडी शर्मा पन्ना में जनकल्याण एवं सुराज सभा को करेंगे संबोधित युवती एसिड मामला- आंखें सुरक्षित-- प्रशासन,, जिले में कॉग्रेस का प्रदर्शन और ज्ञापन, एसपी कलेक्टर की प्रेस कॉन्फ्रेंस और धन्यवाद किशोरी पर एसिड अटैक,, मचा हड़कंप,, एसपी,कलेक्टर मिलने पहुंचे, कांग्रेस अध्यक्ष ने की कार्यवाही की मांग बरसते पानी में कांग्रेस का प्रदर्शन,,, स्वास्थ्य आव्यवस्थाओं के खिलाफ दिया ज्ञापन

पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघ की मौत,,, फिर मिली सड़ी गली लाश

पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघ की मौत,,, फिर मिली सड़ी गली लाश

बाघ की मौत ,,

कहीं 2009 की और तो नहीं चल पड़ा पन्ना

इसके पहले इसी तरह सड़ी गली अवस्था में मिली थी एक ब्रीडिंग टाइगर

(शिवकुमार त्रिपाठी) पन्ना टाइगर रिजर्व में एक बाघ की मौत हो गई है प्रबंधन को गहरी घाट रेंज के मझौली में झाड़ियों में सड़ा गला शव मिला जिस से हड़कंप मच गया टाइगर रिजर्व की कोर एरिया में एक माह के अंदर यह दूसरी बाघ की मौत है इससे पहले एक ब्रीडिंग मादा टाइगर की मौत हुई थी
करीब 5 वर्ष के इस बाघ का शव जब मिला तत्काल फील्ड डायरेक्टर k.s. भदौरिया और वन्य प्राणी चिकित्सक संजीव गुप्ता को सूचना दी गई छत विच्छेद अवस्था में टाइगर के शव को बरामद कर नियमानुसार पंचनामा कराया गया लेकिन पूरा शरीर सड़ गया था इसके बाद सभी अंगों को एकत्र कर नियमानुसार जलाकर नष्ट कर दिया गया चिंता इस बात की है 4 से 6 दिन पूर्व बाघ की मौत हो गई पर किसी भी मैदानी अमले को पता भी नहीं चला इस तरह का बाघों का मरना गंभीर चिंता का विषय है

हालांकि हमेशा की तरह टाइगर रिजर्व प्रबंधन इसे आपसी संघर्ष में मौत होना बताने का प्रयास कर रहा है यदि आपस में भी लड़कर मरे हैं तो उनकी मौत की जानकारी तत्काल प्रबंधन क्यों क्यों नहीं लगती या सभी लोग अपना दामन बचाने के लिए एक ही तरह का तकिया कलाम शब्द का उपयोग कर लेते हैं जिसकी वैधानिक प्रमाणिकता सिद्ध करना काफी कठिन होता है

ज्ञात हो कि 2009 में पन्ना टाइगर रिजर्व बाघ विहीन हो गया था 5 नर और मादा बाघ पन्ना में लाकर छोड़े गए जिसकी संख्या बढ़कर 50 से अधिक हो गई है पर अब उसी तरह फिर बाघों की मौत हो रही जो चिंता का विषय है

✎ शिवकुमार त्रिपाठी (संपादक)
सबसे ज्यादा देखी गयी